home page


   Rajbhavan    Governors    Bhopal    Miscellany
Rajbhavan MP : Anandiben Patel sworn in as Madhya Pradesh Governor


What's New


26 January 2018 Republic Day 2018 Speech New

Latest News
  • राज्यपाल श्रीमती आंनदीबेन पटेल ने क्षिप्रा गेस्ट हाउस में भ्रमण जनजातीय कलाकारों की पेंटिंग का अवलोकन किया। 19-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन में ट्रायल पेंटिग वर्कशाप का उदघाटन करते हुए कहा कि आदिवासी लोक कला को स्कूलों में अतिरिक्त पाठ्यक्रम के रूप में शुरू किया जाये तथा इसकी प्रतियोगिता आयोजित की जायें 15-02-2018
  • राज्यपाल ने खुले में शोच से मुक्ति के प्रति जागरूकता अभियान चलाने पर जोर देते हुए कहा कि खुले में शोच करने की प्रवृत्ति से कई घटनाएं घटित होती हैं। इसलिए गांवों में हर घर में शौचालय बनाने के लिए प्रेरित किया जाये। 15-02-2018
  • पुरूषों की तुलना में महिलाएं अधिक कार्य करने में सक्षम हैं। आज महिलाऐं राजनीतिक, प्रशासनिक सामाजिक क्ष्रेत्र के साथ ही सेना जैसे कठिन क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। 15-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि अच्छी माँ बनने के लिए पूर्ण पोषण की आवश्यकता है़। माँ का कर्तव्य है कि वे बच्ची को जन्म देने के साथ उसको अच्छी शिक्षा भी दे 15-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि हर महाविद्यालय में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के साथ साल में एक बार सभी छात्राओं के स्वास्थ, विशेष रूप से खून की जांच कराना चाहिए ताकि उनके शरीर में हीमो ग्लोबीन की मात्रा का पता लगने से कुपोषित होने से बचाया जा सकता है। 15-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि वर्तमान परिवेश में महिलाओं का सशक्त और जागरूक होना आवश्यक है। अपनी सुरक्षा स्वयं करने का बुलन्द इरादा ही उन्हें विपरीत परिस्थितियों में आत्मविश्वास प्रदान करता है। आत्मविश्वास ही उन्हें संघर्ष करने की शक्ति देता है। वे आज यहां सरोजिनी नायडू कन्या शासकीय महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव समारोह को सम्बोधित कर रही थीं। इस अवसर पर उन्होंने छात्राओं को पुरस्कार भी वितरित किये। 13-02-2018
  • महिलाओं का आगे बढ़ने के लिए शिक्षित होना आवश्यक -राज्यपाल 13-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल द्वारा सरोजनी नायडू शासकीय कन्या महाविद्यालय के वर्षिक समारोह में पुरस्कार वितरण किया। 13-02-2018
  • राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविंद का ग्वालियर विमानतल पर आत्मीय स्वागत राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल एवं मुख्यमंत्री श्री चौहान ने की अगवानी 12-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने मध्यप्रदेश भवन, नई दिल्ली में मध्यप्रदेश एवं गुजरात के सांसदों को चाय पर आमंत्रित किया। इस अवसर पर केन्द्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर, जहाजरानी, सड़क परिवहन एवं राजमार्ग और रसायन एवं उर्वरक राज्य मंत्री श्री मनसुख मांडविया, महिला-बाल विकास और अल्पसंख्यक कार्य राज्य मंत्री डॉ. वीरेन्द्र कुमार विशेष रूप से उपस्थित थे। 07-02-2018
  • कार्यक्रम में मध्यप्रदेश के 14 लोकसभा एवं 6 राज्य सभा सांसद तथा गुजरात के 14 लोकसभा एवं 2 राज्यसभा सांसद मौजूद थे। 07-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने सोमवार को नई दिल्ली प्रवास के दौरान राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द, उपराष्ट्रपति श्री एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, लोकसभा अध्यक्ष श्रीमती सुमित्रा महाजन, विदेश मंत्री श्रीमती सुषमा स्वराज और केन्द्रीय गृह मंत्री श्री राजनाथ सिंह से सौजन्य भेंट की। 05-02-2018
  • राज्यपाल के प्रमुख सचिव डॉ.एम मोहनराव के नेतृत्व में राजभवन सचिवालय के अधिकारियों और कर्मचारियों ने राजभवन परिसर में स्वच्छता अभियान के तहत श्रमदान किया। 05-02-2018
  • डॉ.मोहनराव ने राजभवन में कर्मचारियों के लिए बने आवास में रह रही महिलाओं से भी अपने आवास के आस-पास साफ-सफाई बनाये रखने का आव्हान किया। श्रमदान के समय राजभवन सचिवालय के वरिष्ठ अधिकारी तथा कर्मचारी उपस्थित थे। 05-02-2018
  • मध्यप्रदेश मंत्रि-परिषद् में तीन नये सदस्य नियुक्त किये गये हैं। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने इन नये सदस्यों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। 03-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने श्री नारायण सिंह कुशवाह को मंत्री एवं श्री बालकृष्ण पाटीदार तथा श्री जालम सिंह पटेल को राज्य मंत्री के पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई। मुख्य सचिव श्री बी.पी. सिंह ने शपथ ग्रहण समारोह की कार्यवाही का संचालन किया। 03-02-2018
  • शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान, विधानसभा अध्यक्ष श्री सीतासरन शर्मा, मंत्रि-परिषद् के सदस्य, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष और सांसद श्री नन्दकुमार सिंह चौहान भी उपस्थित थे। 03-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने राष्ट्रीय सेवा योजना के विद्यार्थियों से कहा है कि गाँवों में शिविर के दौरान ग्रामीण परिवारों के साथ रहें। एक परिवार के साथ दो-तीन बच्चे रहें, इससे बच्चों को गांवों में रहने वाले परिवारों की स्थिति और कठिनाइयों की सही तरह से जानकारी प्राप्त हो सकेगी। 01-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि राष्ट्रीय सेवा योजना का उद्देश्य युवाओं को जिम्मेदार नागरिक बनाना है। एनएसएस के माध्यम से विद्यार्थी शिक्षा के साथ राष्ट्र निर्माण एवं चेतना के लिए सामुदायिक कार्यों में सहभागी बन सकते हैं। अपना व्यक्तित्व विकास सुनिश्चित कर सकते हैं। 01-02-2018
  • राज्यपाल ने कहा कि अपने शहर और गांव में जाकर एक स्कूल का चयन करें, वहां वृक्षारोपण करें तथा अपने गांवों में कुपोषित बच्चों और प्रसूता महिलाओं की सेवा में अपनी सहभागिता निभायें। उन्होंने कहा कि देश सेवा के साथ अपने माता-पिता के कार्यों में भी हाथ बटायें और बुर्जगों की सेवा करें। 01-02-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने संत रविदास जयंती के अवसर पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि संत रविदास उन महान सन्तों में अग्रणी थे जिन्होंने अपनी रचनाओं के माध्यम से समाज में व्याप्त बुराइयों को दूर करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। 31-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने युवाओं से संत रवीदास के सिद्धांतों और आदर्शों के मार्ग पर चलकर देश के विकास में योगदान देने की अपील की है। 31-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि बच्चों में शिक्षा की योग्यता के साथ-साथ प्रतिभा और कौशल भी छिपा होता है। इसे समझकर बच्चों को प्रोत्साहित करना चाहिये। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि परीक्षाएं खत्म होने के बाद राजभवन में पेंटिग, चित्रकला, गायन तथा साईंस विषय पर आधारित प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जायेगा। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि माता-पिता को ही नहीं पता रहता है कि उनके बच्चे में कौन-सी कला, कौशल और प्रतिभा छिपी है। उन्होंने कहा कि बच्चों को राजभवन आमंत्रित करने का उद्देश्य उनकी प्रतिभा को जानने, उसे बढ़ाने और प्रोत्साहित करने का अवसर प्रदान करना है। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि गांधीजी का संपूर्ण जीवन एक आंदोलन की तरह था। उन्होंने कहा कि आज हमारी संस्कृति और परम्पराओं को बचाने की चुनौती है। इन चुनौतियों का सामना हमें महात्मा गांधी के जीवन दर्शन से सीख लेकर और आदर्शों पर चलकर ही करना है। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि गांधीजी के सत्य, अहिंसा और सर्वधर्म समभाव के आदर्श आज भी प्रासंगिक हैं। आज के दिन, महात्मा गांधी को हमारी सच्ची श्रद्धाँजलि यही होगी कि हम सब मानवता की रक्षा के साथ-साथ राष्ट्रीय एकता और प्राचीन भारतीय संस्कृति को मजबूत बनाने का संकल्प लें। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि मुझे गर्व है कि मेरा संबंध भी महात्मा गांधी की जन्म स्थली गुजरात से है। 30-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज शौर्य स्थल का भ्रमण किया और वहां स्थापित शहीद स्मारक पर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। 28-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने प्रदेश सरकार द्वारा शौर्य स्थल की स्थापना के लिए प्रशंसा करते हुए कहा कि यह बहुत कठिन काम था जिसे सरकार ने कर दिखाया है। यह सरकार की दढ़ इच्छाशक्ति का फल है। 28-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा कि आज हम आजाद देश में चैन से सो रहे हैं वह इन्हीं शहीद सैनिकों के बलिदान का फल है। 28-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन ने कहा कि माता-पिता को बच्चों के साथ इस स्थल को जरूर देखना चाहिए इससे उन्हें देश भक्ति और देशसेवा की प्रेरणा मिल सकेगी। 28-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन परिसर में निर्माणाधीन कम्यूनिटी भवन, नवनिर्मित क्षिप्रा गेस्ट हाउस और पुलिस बेरक का ओचक निरीक्षण किया। 27-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने निरीक्षण के दौरान निर्माण कार्यों की जानकारी ली तथा समय पर निर्माण कार्य पूरा करने तथा उच्च स्तर तथा बेहतर क्वालिटी का सामान उपयोग करने के निर्देश दिये। 27-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज नेतृत्व विकास शिविर में भाग लेने वाले अनुसूचित जाति-जनजाति के बच्चों को सम्बोधित करते हुए कहा कि अपने भविष्य के सपने को साकार करने का प्रयास करो, अगर सपना पूरा न हो तो निराश न हो, ईश्वर पर भरोसा रखो, वह जरूर कोई दूसरा रास्ता निकालेगा। 27-01-2018
  • गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजभवन में स्वागत समारोह का आयोजन किया गया। राज्यपाल ने मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित आगंतुकों का स्वगात करते हुए गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाओं का आदान प्रदान किया। 26-01-2018
  • राज्यपाल तथा मुख्यमंत्री ने स्वतंत्रता सेनानियों को शाल एवं श्रीफल भेंट कर सम्मानित भी किया। 26-01-2018
  • स्वागत समारोह में विभिन्न धर्मों के धर्मगुरू, राजनैतिक एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी, जनप्रतिनिधगण, सेना और पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, पत्रकारगण तथा गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 26-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज गणतत्र दिवस पर राजभवन परिसर में प्रात: आठ बजे ध्वज फहराया। 26-01-2018
  • ध्वजारोहण के पश्चात राज्यपाल श्रीमती पटेल ने पुलिस की टुकड़ी की सलामी ली। 26-01-2018
  • राज्यपाल ने राजभवन उघान में पीपल का पौधा रोपा एवं राजभवन के अधिकारियों और कर्मचारियों तथा बच्चों को मिष्ठान वितरित किया। । 26-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राजभवन सचिवालय के अधिकारियों, कर्मचारियों तथा पुलिसकर्मियों को मतदाता दिवस पर मतदान करने की शपथ दिलाई। 25-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनन्दीबेन पटेल पूर्व मुख्यमंत्री श्री कैलाश जोशी के निवास पहुँचकर उनसे सौजन्य भेंट की। इस दौरान तकनीकी शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री दीपक जोशी भी उपस्थित थे। 25-01-2018
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल द्वारा गायत्री मंदिर गौशाला और बुल मदर फार्म का भ्रमण. 24-01-2018
  • गौ सेवा सबसे बड़ा धर्म है- राज्यपाल| राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज गायत्री मंदिर स्थित गौशाला तथा बुल मदर फार्म, केरवा पहुंचकर गौवंश की पूजा की तथा गायों को चारा खिलाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गाय हमारी माता है और गौ सेवा सबसे बड़ा धर्म है। गौ मूत्र में बहुत शक्ति होती है और इसका उपयोग औषधि के रूप में भी बहुत लाभदायक है। उन्होंने कहा कि मेरे माता पिता ने मुझे बचपन से ही गौ सेवा की सीख दी है। गौ मूत्र और गोबर से ऊर्जा का निर्माण भी किया जाता है।
  • गौ सेवा सबसे बड़ा धर्म है- राज्यपाल राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज गायत्री मंदिर स्थित गौशाला तथा बुल मदर फार्म, केरवा पहुंचकर गौवंश की पूजा की तथा गायों को चारा खिलाया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गाय हमारी माता है और गौ सेवा सबसे बड़ा धर्म है। गौ मूत्र में बहुत शक्ति होती है और इसका उपयोग औषधि के रूप में भी बहुत लाभदायक है। उन्होंने कहा कि मेरे माता पिता ने मुझे बचपन से ही गौ सेवा की सीख दी है। गौ मूत्र और गोबर से ऊर्जा का निर्माण भी किया जाता है।
  • राज्यपाल श्रीमती पटेल ने वहां स्थित श्रीराम साहित्य डिपो में जाकर गायत्री परिवार से संबंधित पुस्तकों का अवलोकन करते हुए साहित्य की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि यहां उपलब्ध पुस्तकों का सभी को अध्ययन करना चाहिए। राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल को बुल फार्म के भ्रमण के दौरान प्रमुख सचिव ने जानकारी देते हुए बताया कि यहां गिर और साहीवाल नस्ल की देसी गायें उपलब्ध हैं। यहां भ्रूण प्रत्यारोपण तकनीक से बत्सों को जन्म दिया जाता है। राज्यपाल ने देसी नस्लों के संरक्षण एवं संवर्धन के किये जा रहे कार्यों की जानकारी भी ली।
  • राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल का शपथ ग्रहण समारोह सम्पन्न भोपाल : मंगलवार, जनवरी 23, 2018
Latest Photos

The Hon'ble Governor
नामश्रीमती आनंदीबेन मफतभाई पटेल
जन्म21 नवंबर, 1941
स्थानखरोद, विजयपुर तालुका, जिला मेहसाणा।
शिक्षा एमएससी, एमएड (गोल्ड मेडलिस्ट)।
व्यवसाय सेवानिवृत्त प्राचार्य (मोहिनाबा हाई स्कूल, अहमदाबाद) एवं समाज-सेवा।
संसदीय जीवन राज्य सभा सदस्य, वर्ष 1994-98।
10वीं गुजरात विधानसभा की वर्ष 1998 से 2002 (मांडल विधानसभा क्षेत्र) तक सदस्य। वर्ष 1998 से 1999 तक शिक्षा राज्य मंत्री (वयस्क शिक्षा रहित) (स्वतंत्र प्रभार), महिला एवं बाल कल्याण (स्वतंत्र प्रभार), वर्ष 1999 से 2002 तक शिक्षा (प्रारंभिक, माध्यमिक, वयस्क) एवं महिला एवं बाल कल्याण मंत्री।
11वीं गुजरात विधानसभा की (पाटन विधानसभा क्षेत्र) वर्ष 2002 से 2007 तक सदस्य रहीं एवं शिक्षा (प्रारंभिक, माध्यमिक, वयस्क), उच्च एवं तकनीकी शिक्षा, महिला एवं बाल कल्याण, खेल, युवा एवं सांस्कृतिक गतिविधि मंत्री के पद पर रहीं।
12वीं गुजरात विधानसभा की (पाटन विधानसभा क्षेत्र) वर्ष 2007 से 2012 तक सदस्य। राजस्व, आपदा प्रबंधन, सड़क एवं भवन, राजधानी परियोजना, महिला एवं बाल कल्याण मंत्री 4 जनवरी, 2008 से 25 दिसम्बर, 2012 तक। 26 दिसम्बर, 2012 से 21 मई, 2014 तक राजस्व, सूखा राहत, भूमि सुधार, पुनर्वास, पुनर्निर्माण, सड़क एवं भवन, राजधानी परियोजना, शहरी विकास और आवास मंत्री।
22 मई, 2014 से 7 अगस्त, 2016 तक गुजरात राज्य की प्रथम महिला मुख्यमंत्री।
गतिविधियाँवर्ष 1988 से 90 एवं 1992 से 96 तक अध्यक्ष राज्य महिला मोर्चा, भारतीय जनता पार्टी। वर्ष 1990 से 1992 तक गुजरात में भारतीय जनता पार्टी की प्रदेश उपाध्यक्ष रहीं। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महिला मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति की 8 वर्ष तक सदस्य रहीं। स्कूली शिक्षा के दौरान आपको मेहसाणा जिला के स्कूल स्पोर्टस फेस्टिवल में वर्ष 1988 में 'वीर बाला' पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 1990 में गुजरात राज्य के 'श्रेष्ठ शिक्षक' पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसके बाद राष्ट्रीय स्तर के 'श्रेष्ठ शिक्षक' सम्मान से सम्मानित हुई। आपको मोहिनता कन्या विद्यालय की दो छात्राओं को नर्मदा नदी में डूबने से बचाने के लिए गुजरात सरकार के 'वीरता पुरस्कार' से नवाजा गया। श्रीमती आनंदी बेन पटेल को ज्योति संघ, अहमदाबाद द्वारा 'चारूमति योद्धा पुरस्कार' से भी सम्मानित किया गया। वर्ष 1999 में पटेल जागृति मंडल, मुंबई द्वारा 'सरदार पटेल पुरस्कार', वर्ष 2000 में श्री तपोधन ब्राह्मण विकास मण्डल द्वारा 'विद्या गौरव' पुरस्कार और वर्ष 2005 में पटेल समुदाय द्वारा 'पाटीदार शिरोमणि' पुरस्कार दिया गया। आपको अम्बु भाई पुरानी व्यायाम विद्यालय, राजपीपला द्वारा भी सम्मानित किया गया।
साहित्यिक गतिविधियाँ समय-समय पर 'धराती', 'साधना' एवं 'सखी' पत्रिकाओं के लिये लेख लिखती हैं।
रूचिअध्ययन, लेखन, यात्रा, जनसम्पर्क।
विदेश यात्रा चौथी वर्ल्ड वूमेन्स कान्फ्रेंस बीजिंग (चीन) में भारत सरकार के दल में शामिल हुई। वर्ष 1996 में भारतीय संसदीय दल के साथ बुलगारिया की यात्रा एवं फ्रांस, जर्मनी, हालैण्ड, इंग्लैण्‍ड, नीदरलैंड, अमेरिका, कनाडा एवं मेक्सिको आदि की शिक्षा अध्ययन यात्राएँ की हैं। वर्ष 2002 में कॉमन वेल्थ पार्लियामेन्ट्री एसोसिएशन की गुजरात शाखा के दल के साथ 48वीं सीपी कान्फ्रेंस में शामिल हुईं। आपने नामीबिया एवं साउथ अफ्रीका का अध्ययन दौरा भी किया है। सितम्बर 2009 में आपने लंदन में 'विलेज इंडिया' प्रोग्राम में गुजरात का प्रतिनिधित्व किया।
स्थायी पता 'धरम', शान बंगलोस के पास, शिलाज, तालुका दशक्रोई, जिला अहमदाबाद।
पता के-3, सेक्टर-19, गांधीनगर।
Latest Videos