‎वन नेशन वन राशन कार्ड: आवेदन ऑनलाइन One Nation One Ration Card रजिस्ट्रेशन

One Nation One Ration Card Apply | ‎ ‎वन नेशन वन राशन कार्ड आवेदन ऑनलाइन |‎ वन नेशन वन राशन कार्ड  रजिस्ट्रेशन  | One Nation One Ration Card In Hindi | राज्यों की सूची |

आज हम आपको वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं। एक देश एक राशन कार्ड योजना के अंतर्गत किसी भी राज्य का नागरिक देश की किसी भी राज्य की पीडीएस राशन की दुकान से राशन खरीद सकता है।  इस योजना की घोषणा रामविलास पासवान जी के द्वारा की गई है जो कि केंद्रीय खाद्य मंत्री और सार्वजनिक वितरण मंत्री है। तो आज हम आपको इस लेख के माध्यम से वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी बताने जा रहे हैं। यदि आप One Nation One Ration Card के बारे में जानना चाहते हैं तो आपसे अनुरोध है कि आप इस लेख को ध्यान से पढ़ें।

One Nation One Ration Card

वर्तमान पीडीएस प्रणाली के अंतर्गत एक राज्य का नागरिक अपने इलाके की राशन की दुकान से राशन खरीद सकता है। इस योजना के अंतर्गत मार्च 2021 तक सभी लाभार्थी ‎वन नेशन वन राशन कार्ड से जुड़ जाएंगे। इस योजना के अंतर्गत देश के नागरिक देश के किसी भी कोने से अपने राशन कार्ड के माध्यम से रियायती दरों पर राशन की दुकान से राशन ले सकते हैं। इस योजना को सबसे पहले पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर दो राज्यों जो कि आंध्र प्रदेश-तेलंगाना और महाराष्ट्र-गुजरात में शुरू किया गया था जिसके अंतर्गत आंध्र प्रदेश के लोग तेलंगाना और तेलंगाना के लोग आंध्र प्रदेश में किसी भी राशन की दुकान से राशन खरीद सकते हैं।

वन नेशन वन राशन कार्ड

32 राज्यों में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी के द्वारा केंद्रीय बजट के दौरान उन प्रवासी मजदूरों और श्रमिकों के बारे में बात की गई जो कोविड-19 महामारी के कारण सबसे ज्यादा प्रभावित हुए हैं। सरकार द्वारा शुरू की गई वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के माध्यम से लाभार्थी देश भर में कहीं भी अपने राशन कार्ड का उपयोग कर सकते हैं तथा इस योजना का विशेष लाभ उन प्रवासी मजदूरों को प्रदान किया जाएगा जो अपने परिवारों से दूर रह रहे हैं तथा उसी स्थान से राशन का आंशिक दावा कर सकते हैं जहां वह अपने काम के लिए रह रहे हैं।

  • वन नेशन वन राशन कार्ड योजना 32 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों द्वारा कार्यान्वित की जा रही है
  • इस योजना का लाभ लगभग 69 करोड़ लाभार्थियों तक पहुंचने की उम्मीद है।
  • सीतारमण जी के द्वारा केंद्रीय बजट में घोषणा की गई कि,
  • केंद्र प्रवासी श्रमिकों पर डाटा एकत्र करने के लिए एक पोर्टल लांच किया जाएगा।
  • इसके अलावा सामाजिक सुरक्षा बेनिफिट अब मंच और श्रमिकों पर लागू होंगे
  • तथा सभी श्रेणी के श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी लागू होगी।

वन नेशन वन राशन कार्ड का बजट

वित्त मंत्री द्वारा 9 दिसंबर बुधवार के दिन एक देश एक राशन कार्ड का बजट निर्धारित कर दिया गया है। इस योजना के अंतर्गत केंद्र सरकार द्वारा 23,523 करोड रुपये के बजट की मंजूरी दी है। ‌ जैसे कि आपको ऊपर बताया इस योजना को सरकार द्वारा केवल 9 जैसे उत्तर प्रदेश आंध्र प्रदेश गोवा गुजरात हरियाणा कर्नाटक केरल तेलंगाना और त्रिपुरा में लागू किया जाएगा। इस योजना को लागू करने का मुख्य मकसद है कि देश में विकास हो और राज्य में लोग देश के हर कोने की पीडीएस राशन दुकानों से राशन खरीद पाए।

उत्तर प्रदेश को मिला अधिक लाभ

उत्तर प्रदेश एक ऐसा राज्य है जिससे वन नेशन वन राशन कार्ड का सबसे ज्यादा लाभ प्रदान किया गया है। उत्तर प्रदेश विशेष सुविधा के माध्यम से 4,851 करोड़ रुपये से अधिक उधार ले पाएगा। उत्तर प्रदेश के बाद 2 राज्य और ऐसे हैं जिन्हें अधिक से अधिक लाभ प्राप्त हुआ है जैसे कर्नाटक को 4509 करोड़ रुपये और गुजरात को 4352 करोड़ रुपये। वित्त मंत्री द्वारा घोषणा की गई कि खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण विभाग के द्वारा यह निर्णय लिया जाएगा कि किस राज्य में सुधार के लिए जरूरी शर्तों को पूरा किया है। तथा अतिरिक्त उधारी पाने की योग्यता के लिए राज्यों को 31 दिसंबर 2020 तक अपने राज्यों में सुधारों को लागू करना होगा। 

आधार नंबर से राशन कार्ड कि आसक्ति

जैसे कि हम सब जानते हैं वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के अंतर्गत आधार कार्ड को राशन कार्ड से जोड़ने का काम जोरों शोरों से चल रहा है। इस काम को पूरा करने के बाद पूरे देश में एक परिवार का एक राशन कार्ड को वितरित कर दिया जाएगा।

  • इस कार्य में तेजी विभाग की ओर से शक्ति दिखाने के बाद आई है।
  • और सख्ती के बाद जिले में अब तक 82% आधार कार्ड लिंक हो चुके हैं
  • तथा विभाग की ओर से डीलरों को नोटिस भी प्रदान किया गया है कि
  • राशन कार्ड को आधार कार्ड से लिंक करवाने की अंतिम तिथि 10 दिसंबर है।
  • इस कार्य को पूरा करने के लिए कलेक्टर की तरफ से हर ब्लाक स्तर पर ब्लॉक संख्या की अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई है।
  • तथा निर्देश दिए गए हैं कि प्रतिदिन 25 से 30 राशन डीलरों से बात करें।
  • अंता मांगरोल मैं कुल 1,74,247 में से 1,53,510 लोगों की आधार लिंकिंग हुई है।
  • ऐसे ही शाहाबाद में अब तक 75.58% आधार सीडिंग हुई है।
  • यदि बात और जिलों में की जाए तो-
  • बारां में 82.85%,
  • अटरू में 86.43%,
  • छिपाबदौड़ में 82.07%
  • किशनगंज में 77.50%
  • आधार सीडिंग का कार्य संपूर्ण हुआ है।

वन नेशन वन राशन का फॉर्मेट

केंद्र शासित प्रदेशों को सरकार द्वारा राशन कार्ड जारी करने के लिए एक फॉर्मेंट प्रदान किया गया है। सभी राज्यों द्वारा उस फॉर्मेट का पालन करके राशन कार्ड जारी किया जाएगा। नए राशन कार्ड फॉर्मेट के चरण कुछ इस प्रकार है

  • नए राशन कार्ड में कुछ न्यूनतम विवरण शामिल होंगे
  • लेकिन सरकार द्वारा आवश्यकता के तहत अधिक विवरण शामिल किए जा सकते हैं।
  • राशन कार्ड इंग्लिश और हिंदी दोनों में जारी किया जाएगा इसके अलावा भी स्थानीय भाषा में भी राशन कार्ड जारी किया जा सकता है।
  • वन नेशन वन राशन में 10 अंकों का राशन कार्ड नंबर शामिल होगा
  • इन 10 अंकों के पहले 2 अंक राज्य के कोड होंगे और अगले 2 अंक राशन कार्ड नंबर होंगे।
  • इन चार अंकों के अलावा राशन कार्ड में घर के सदस्यों के लिए
  • यूनिक आईडी बनाने के लिए राशन कार्ड नंबर के साथ दो अंक का सेट जोड़ा जाएगा

One Nation One Ration Card

केंद्रीय खाद्य मंत्री ने यह भी कहना है कि इस योजना को 1 जून 2020 तक पूरे देश में लागू कर दिया जाएगा। यह योजना पीओएस मशीन के जरिए शुरू होगी। केंद्रीय मंत्री का कहना है की 14 राज्यों में पीओएस मशीन की सुविधा शुरू हो चुकी है और बाकी राज्यों में जल्द सुविधा को शुरू कर दिया जाएगा। इस योजना से लाभार्थी को यह फायदा मिलेगा कि अगर लाभार्थी किसी दूसरे शहर में जाकर रहने लगे तो वह रियायती दरों पर राशन खरीद पाएंगे।

(Apply) Free Ration Card 2021

One Nation One Ration Card Key Highlights

आर्टिकल किसके बारे में हैवन नेशन वन राशन कार्ड
किस ने लांच की स्कीमकेंद्रीय सरकार
लाभार्थीभारत के नागरिक
उद्देश्यसभी लाभार्थी नागरिकों को देश के किसी भी कोने से राशन खरीदने की छूट।
ऑफिशियल वेबसाइट 
साल2021
स्कीम उपलब्ध है या नहींउपलब्ध

वन नेशन वन राशन कार्ड का उद्देश्य

One Nation One Ration का उद्देश्य सभी लाभार्थियों को देश में किसी भी राज्य में राशन कार्ड की मदद से राशन की दुकानों से राशन प्राप्त कर आना है। वन नेशन वन राशन कार्ड के माध्यम से फर्जी राशन कार्ड को रोकने में मदद मिलेगी।इससे देश में चल रहे भ्रष्टाचार को भी रोका जा सकता है। इस योजना से प्रवासी मजदूरों को भी बहुत लाभ मिलेगा।

‎वन नेशन वन राशन कार्ड

 

वन नेशन वन राशन कार्ड का कार्य

राशन कार्ड आपके मोबाइल नंबर के तरह काम करेगा। जिस तरह से आपका मोबाइल नंबर देश में किसी भी कोने में जाकर चल सकता है वैसे ही वन नेशन वन राशन कार्ड का उपयोग आप किसी भी राज्य में कर सकते हैं। इस राशन कार्ड के माध्यम से लाभार्थी एक अक्टूबर 2020 से अपनी इच्छा अनुसार उचित मूल्य पर खाद्य पदार्थ प्राप्त कर सकते हैं। इस योजना का लाभ उन सभी लाभार्थियों को प्रदान किया जाएगा जिनके पास राशन कार्ड उपलब्ध है। ‌ राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के मुताबिक देश के 81 करोड़ लोग जन वितरण प्रणाली के माध्यम से राशन की दुकानों से 3 रुपये प्रति किलो की दर से चावल और 2 रुपये प्रति किलो की दर से गेहूं प्राप्त कर सकते हैं।

वन नेशन वन राशन कार्ड नई अपडेट

देश में पिछले महीनों में चल रहे लॉक डाउन की स्थिति में सरकार द्वारा 1 जून से वन नेशन वन राशन कार्ड योजना में 3 और राज्यों जैसे उड़ीसा सिक्किम और मिजोरम को जोड़ा गया था। तथा की योजना लॉकडाउन के समय में देश के लोगों के लिए काफी लाभकारी साबित हुई थी। इस योजना का लाभ उन राशन कार्ड धारकों को भी प्रदान किया गया है जो दूसरे राज्य में नौकरी कर रहे हैं। इस राशन कार्ड की वजह से देश के नागरिक किसी भी सरकारी राशन दुकानों से कम कीमत पर अनाज खरीद सकते हैं। 1 जून तक 20 राज्य इस में जोड़े गए तथा मार्च 2021 तक इसे पूरे देश भर में लागू कर दिया जाएगा।

वन नेशन वन राशन के तहत चयन प्रक्रिया

राशन कार्ड को लोगों की आर्थिक स्थिति के आधार पर जारी किया जाता है। इसी प्रकार से वन नेशन वन राशन की चयन प्रक्रिया इसी आधार पर की जाती है। तो चलिए दोस्तों जानते हैं वन नेशन वन राशन के तहत किन लोगों को शामिल किया जाता है।

  • एपीएल राशन कार्ड:- एपीएल राशन कार्ड कैटेगरी में उन लोगों को रखा जाता जाता है जो अपना जीवन गरीबी रेखा से ऊपर यापन कर रहे हैं। यह राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किया जाता है जो आर्थिक रूप से सक्षम है।
  • बीपीएल राशन कार्ड:- बीपीएल राशन कार्ड में देश के उन लोगों को रखा जाता है जो अपना जीवन गरीबी रेखा से नीचे यापन कर रहे हैं। यह राशन कार्ड उन लोगों को प्रदान किया जाता है जो आर्थिक रूप से सक्षम नहीं है।

वन नेशन वन राशन कार्ड के लाभ

  • देश के सभी व्यक्ति इस योजना का लाभ जून 2020 से उठा सकते हैं।
  • काफी सारे लोग ऐसे हैं जो रोजगार की तलाश में दूसरे राज्यों में चले जाते हैं। वे सभी लोग वन नेशन वन राशन कार्ड योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • हर लाभार्थी किसी भी पीडीएफ दुकान से राशन खरीद सकता है।
  • इस योजना से फर्जी राशन कार्ड को रोकने में मदद मिलेगी।

One Nation One Ration Card  Scheme की विशेषताएं

  • ‎वन नेशन वन राशन कार्ड केंद्र सरकार द्वारा शुरू की हुई योजना है जो मिनिस्ट्री आफ कंज्यूमर अफेयर्स फूड एंड पब्लिक डिसटीब्यूशन ने जनवरी 2020 में लॉन्च की थी।
  • खाद्य मंत्री रामविलास पासवान ने इस योजना का आरंभ किया था और सबसे पहले यह योजना गुजरात -महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश- तेलंगाना में शुरू की थी। जो कि अब बढ़ाकर 17 राज्यों में कर दी गई है।
  • 1 जून 2020 से यह योजना पूरे देश में लागू कर दी जाएगी।
  • इस योजना के लिए पॉइंट ऑफ सेल मशीन हर एफपीएस दुकान पर लगाई जाएगी।
  • सभी प्रवासी मार्च 2021 तक किसी भी पीडीएस से राशन खरीद पाएंगे।
  • अगस्त 2020 तक 83% काड्रेशन कार्ड  होल्डर्स इस योजना के अंतर्गत आ जाएगी और मार्च 2021 तक 100% इसके अंदर आ जाएंगे।
  • वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत सारा डाटा पीडीएस सिस्टम का एक जगह जमा करने में आसानी होगी।
  • वन नेशन वन राशन कार्ड के कार्ड होल्डर राशन देश की किसी भी दुकान से रियायती दरों पर खरीद पाएंगे।

Central Government Scheme 2021

सभी राज्यों और यूनियन टेरिटरीज के नाम

केंद्र सरकार ने 17 राज्य और यूनियन टेरिटरीज में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को सक्रिय किया हुआ है जिनकी सूची कुछ इस प्रकार है।

  • आंध्र प्रदेश
  • बिहार
  • दमन एंड दिउ
  • गोवा
  • गुजरात
  • हरियाणा
  • हिमाचल प्रदेश
  • झारखंड
  • कर्नाटका
  • केरला
  • महाराष्ट्र
  • मध्य प्रदेश
  • पंजाब
  • राजस्थान
  • तेलंगाना
  • त्रिपुरा
  • उत्तर प्रदेश

‎वन नेशन वन राशन कार्ड योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

वन नेशन वन राशन कार्ड में आवेदन करने के लिए किसी भी तरह का ऑनलाइन तथा ऑफलाइन आवेदन करने की जरूरत नहीं है । राज्य और केंद्र सरकार राशन कार्ड के लाभार्थी के आधार कार्ड को  सत्यापित कर लिंक करेंगी। उसके बाद इंटीग्रेट मैनेजमेंट पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम आंकड़े उपलब्ध कराएगी और जो भी इसके पात्र नागरिक होंगे वह अपना राशन देश के किसी भी कोने से लेने में समर्थ होंगे।

वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत राज्यों की सूची देखने की प्रक्रिया

देश के जो इच्छुक लाभार्थी वन नेशन वन राशन योजना में राज्यों की सूची देखना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है।

वन नेशन वन राशन कार्ड के तहत राज्यों की सूची देखने की प्रक्रिया
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • होम पेज पर आपको सभी राज्यों की सूची मिल जाएगी।

Leave a Comment