(रजिस्ट्रेशन) मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2021- Kanya Sumangala Yojana

Kanya Sumangala Yojana Apply | मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना ऑनलाइन आवेदन | Mukhyamantri Kanya Sumangala Scheme Registration |

उत्तर प्रदेश की बेटियों के भविष्य को बेहतर बनाने के लिए हमारे प्रिय मुख्यमंत्री श्री आदित्यनाथ योगी जी द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना को आरंभ किया गया है। इस योजना के के अंतर्गत राज्य की कन्याओं को 15000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिससे बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की अवधारणा को आगे बढ़ाया जाएगा। तो चलिए दोस्तों आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2021 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं जैसे इसका उद्देश्य क्या है, इसके लाभ क्या है तथा आवेदन के लिए पात्रता क्या है। आपसे निवेदन है कि हमारे इस लेख को विस्तार से पढ़ें

Table of Contents

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत प्रदेश की कन्याओं को कुल 15000 रुपए दिए जाएंगे यह धनराशि 6  किस्तों में उपलब्ध कराई जाएगी इसके अंतर्गत उस परिवार की वार्षिक आय सालाना ₹3 लाख या उससे कम होनी चाहिए। इस योजना का बजट 1200 करोड़ रुपए है जो राज्य सरकार ने निर्धारित किया है। इस योजना के शुरू होने से बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ की अवधारणा सच होती दिखती है किसी परिवार को  Mukhyamantri Kanya Sumangala Scheme का लाभ उठाने के लिए उस परिवार में कम से कम 2 बच्चे होने चाहिए यदि इस परिवार की महिलाओं को दूसरे प्रसव में जुड़वा बच्चे पैदा होते हैं और उसमें तीसरी संतान बेटी होती है तो वह भी इसका लाभ लेने के लिए मान्य होगी और अगर दूसरे प्रसव के  समय दो जुड़वा बेटियां जन्म देती है तो तीनों बेटियों का इस योजना  का लाभ मिलेगा।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

यूपी की 10 लाख कन्याओं को मिला कन्या सुमंगला योजना का लाभ


उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की कन्याओं को आर्थिक सहायता प्रदान करने हेतु कन्या सुमंगला योजना का शुभारंभ किया गया है। 12 सितंबर 2021 को यानी रविवार के दिन इस योजना के तहत राज्य की लगभग 9.91 कन्याओं को आर्थिक सहायता डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से हस्तांतरित की गई। सरकार द्वारा बताया गया है कि मिशन शक्ति अभियान के माध्यम से राज्य की 1.55 लाख बालिकाओं को भी इस योजना के तहत शामिल किया गया है। सरकार द्वारा शुरू किए गए इस अभियान को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य की ज्यादा से ज्यादा बालिकाओं को इस योजना का लाभ प्रदान किया जा सके।

उत्तर प्रदेश की 9.36 लाख महिलाओं को मिला लाभ

जैसे कि आप सभी जानते हैं कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रदेश की कन्याओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने हेतु कन्या सुमंगला योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से बालिकाओं के प्रति नकारात्मक सोच को दूर किया आ रहा है। देखा जाए तो वर्ष 2019 से लेकर अब तक कन्या सुमंगला योजना के तहत लगभग 9.36 लाख बालिकाओं को लाभान्वित किया जा चुका है। इस योजना के तहत बालिकाओं को 6 किस्तों मैं जन्म से लेकर स्नातक की पढ़ाई के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य की बालिकाओं को उज्जवल भविष्य प्रदान किया जा सके।

कन्या सुमंगला योजना का प्रचार मिशन शक्ति अभियान से किया जाएगा

वर्ष 2021 के जुलाई व अगस्त महीने में एक विशेष अभियान का संचालन किया गया है। इस अभियान को मिशन शक्ति अभियान के नाम से जाना जाता है। सरकार द्वारा इस अभियान को चलाने का मुख्य उद्देश्य है कि प्रदेश के प्रत्येक बालिका का चयन इस योजना के तहत किया जा सके और उन्हें अधिक से अधिक लाभ पहुंचाया जा सके। इस अभियान के आने वाले चरणों में इस योजना का प्रचार प्रसार किया जाएगा। साथी 7 अगस्त के महीने में 15 दिवस के अंतराल पर स्वालंबन कैंप भी आयोजित किया गया था। इन कैंपों के माध्यम से अधिक से अधिक बालिकाओं को इस योजना के तहत पंजीकृत कराया गया है।

कन्या सुमंगला योजना जनवरी अपडेट

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा राज्य की प्रायमरी अप्पर प्राइमरी माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा की पढ़ाई करने वाली छात्राओं को 5000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया है। यह सहायता राशि प्रदान करने का मुख्य उद्देश्य है कि मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना से स्कूलों की बच्चियों को एक बड़े पैमाने पर जोड़ा जाए और इस प्रयास के लिए खुद उत्तर प्रदेश के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश शामिल है। प्रदेश के सभी स्कूलों को इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं तथा पात्र बच्चियों की डीटेल्स ऑनलाइन दर्ज कराने के निर्देश दे दिए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक पता चला है कि फरवरी तक 15000 छात्रों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा जिसके अंतर्गत प्रायमरी अप्पर प्राइमरी स्कूलों की 8000 छात्राएं होंगी, माध्यमिक शिक्षा की 5000 तथा उच्च शिक्षा की 2000 छात्रों को इस योजना का लाभ प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

5000 रुपये की वित्तीय सहायता

जैसे के आपको ऊपर बताया उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्रायमरी, अप्पर प्रायमरी, माध्यमिक तथा उच्च शिक्षा की पढ़ाई करने वाली 15000 छात्राओं को 5000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान करने का निर्णय लिया गया है के अंतर्गत कक्षा में दाखिल होने वाली छात्राओं को 2000 रुपये प्रदान किए जाएंगे, कक्षा 6 में दाखिल होने वाली छात्राओं को 2000 रुपये प्रदान किए जाएंगे, माध्यमिक स्कूलों में कक्षा 9 में दाखिल होने वाली छात्राओं को 3000 रुपये तथा 12वीं पास करने के बाद स्नातक या 2 वर्ष का डिप्लोमा कोर्स करने वाली छात्राओं को 5000 रुपये की एकमुश्त राशि प्रदान की जाएगी।

वर्ष 2021 में 16 हज़ार बेटियों को किया जाएगा लाभान्वित

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना में 2021 में 16 हजार बेटियों को लाभ मिलेगा। इसके लिए शासन से प्रोबेशन विभाग को लक्ष्य मिल गया है। जन्म से लेकर स्नातक तक की पढ़ाई के दौरान बेटियों को सहायता राशि दी जाएगी। अब तक विभाग को 27 हजार आवेदन मिले हैं, जिसमें सात हजार को योजना का लाभ मिल चुका है। विभागों की उदासीनता से 2100 से अधिक आवेदन अब भी लंबित है। इस योजना के माध्यम से किसी भी परिवार में बेटियों के जन्म से लेकर पढ़ाई तक सरकार की ओर से पात्र लाभार्थियों को छह किस्तों में 15000 रुपये का लाभ दिया जाएगा। वर्ष 2019-20 में प्रोबेशन विभाग की ओर से सात हजार बालिकाओं को लाभान्वित किया गया।  2020-21 में 16 हजार को लाभ देने का लक्ष्य मिला है। विभागीय आंकड़ों पर गौर करें तो अब तक 27 हजार आवेदन विभिन्न श्रेणियों का आए हैं। इसमें 11 हजार अपात्र मिले|

एलआईसी कन्यादान पॉलिसी 2021

अब तक 2100 आवेदन लंबित 

 2100 आवेदन तहसील, शिक्षा विभाग के दफ्तरों में लंबित हैं। पिछले दिनों डीएम राजेंद्र प्रसाद ने बैठक में लंबित आवेदनों को निस्तारित करने का निर्देश दिया, लेकिन अब भी निस्तारण नहीं हो सका। अब भी एसडीएम औराई के यहां 352, भदोही में 376, ज्ञानपुर में 704, डीआईओएस कार्यालय में 345, बीएसए कार्यालय में 16, प्रोबेशन कार्यालय में 14, ब्लॉक आभदी में 235, औराई में 612, भदोही में 224, ज्ञानपुर में 207, डीघ में 316 सहित कुल 2100 आवेदन लंबित हैं। जिला प्रोबेशन अधिकारी महेंद्र कुमार यादव ने कहा कि आवेदनों का सत्यापन चल रहा है। सत्यापन पूर्ण होने पर बेटियों के खाते में जरूरी प्रोत्साहन राशि भेजी जाएगी।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना लेटेस्ट अपडेट

जैसे कि हम सब जानते हैं कन्या सुमंगला योजना के तहत सरकार द्वारा 22000 लाभार्थियों को लाभ पहुंचाने का लक्ष्य रखा गया था। जिसके तहत अब तक केवल 40000 लोगों ने आवेदन किया है। विभिन्न जांच के बाद पता चला है कि 8500 पात्र लाभार्थियों को लाभ पहुंचाया गया है और 31500 का आवेदन निरस्त कर दिया गया है। 2020 का जो लक्ष्य रखा गया था वह कोरोना के कारण पूरा नहीं हुआ है। अब तक केवल 11179 लोगों ने ही आवेदन किया है जिसमें से 1197 आवेदन की जांच में सही पाई गई है और 5857 आवेदन निरस्त कर दिए गए।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

कन्या सुमंगला योजना के पात्र लाभार्थी

सरकार द्वारा योजना का लाभ उठाने के लिए एक परिवार से दो बच्चों को चुना गया था। यदि एक परिवार की दोनों बच्चे पुत्र होती है तो उन्हें इस योजना का लाभ मिलेगा। तथा आवेदन के लिए पुत्री का जन्म प्रमाण पत्र और 300000 रुपये सालाना से कम आय होना अनिवार्य था। घोषणा की गई है की उम्मीदवार योजना के कुल 6 चरणों के दौरान ही लाभ के लिए आवेदन कर सकते हैं लेकिन लोगों ने जिस चरण में आवेदन किया है उसके बाद ही उसे धनराशि प्रदान की जाएगी

लक्ष्य ना पूरा होने का कारण

जिला प्रोबेशन अधिकारी समर बहादुर सरोज के द्वारा बताया गया है कि मेंटेनेंस के कार्य के कारण वेबसाइट बीते 2 नवंबर उसे पूर्ण रुप से बंद है। यही कारण है कि कन्या सुमंगला योजना के लाभ के लिए अभी ऑनलाइन आवेदन नहीं किया गया है अधिकारी द्वारा घोषणा की गई थी कि अब तक 1042 लोगों का आवेदन की सत्यापित नहीं किया गया है। जैसे ही इस वेबसाइट को चालू किया जाएगा वैसे ही लंबित आवेदन पत्रों का यथाशीघ्र निपटारा किया जाएगा।

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

Highlight Of Kanya Sumangala Yojana

योजना का नाममुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना 2021
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
विभागमहिला एवं बाल विकास विभाग
योजना का उद्देश्यराज्य की बेटियों का भविष्य उज्जवल बनाना
योजना के लाभार्थीराज्य की बालिकाएं
योजना का लाभपढ़ाई के लिए बेटियों को धनराशि प्रदान करना
आवेदन का प्रकारऑनलाइन और ऑफलाइन
राज्यउत्तर प्रदेश
आधिकारिक वेबसाइटClick Here

कन्या सुमंगला योजना के उद्देश्य 

उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश की कन्याओं को ऊंची शिक्षा देने के लिए उनके फ्यूचर को उज्जवल बनाने के लिए इस Kanya Sumangala Yojana का शुभारंभ किया है। इस योजना की वजह से प्रदेश की बालिकाओं को अपने पैरों पर खड़ा होने का मौका मिलेगा प्रदेश सरकारी चाहती है कि समाज में भ्रूण हत्या को खत्म किया जाए और लोगों में बेटियों के प्रति सकारात्मक सोच आए और बेटियों को भी बेटो के समान ही समझें। इस योजना का मुख्य उद्देश्य बेटियों को आत्मनिर्भर बनाना है।

kanya sumangala yojana

UP Ration Card List 2021

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना का कार्यान्वयन

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए 6 श्रेणियां लागू की गई है। जो कि कुछ इस प्रकार हैं

पहली श्रेणी

राज्य की नवजात बालिकाएं जिनका जन्म 01/04/2019 को हुआ है या उसके बाद हुआ है तो उन्हें 2000 रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी।

दूसरी श्रेणी

दूसरी श्रेणी राज्य के उन बालिकाओं को प्रदान किया जाएगा जिनका जन्म 01/04/2019 से पूर्व नहीं हुआ हो तथा वह 1 वर्ष के भीतर ही संपूर्ण टीकाकरण करवा चुकी। इन बालिकाओं को 1000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाएगी।

तीसरी श्रेणी

तीसरी श्रेणी में 2000 रुपये का लाभ उन बालिकाओं को प्रदान किया जाएगा जिन्होंने चालू शैक्षणिक सत्र के दौरान पहली कक्षा में प्रवेश लिया हो।

चौथी श्रेणी

2000 रुपये धन राशि का लाभ उन बालिकाओं को प्रदान किया जाएगा जिन्होंने चालू श्रेणिक सत्र के दौरान छठी कक्षा में प्रवेश लिया हो।

पांचवीं श्रेणी

पांचवीं श्रेणी के अंतर्गत वह बालिकाएं 3000 रुपये से सम्मिलित होंगी जिन्होंने चालू श्रेणिक सत्र के दौरान नवीं कक्षा में प्रवेश लिया हो।

छटी श्रेणी

इस श्रेणी के दौरान वे सभी बालिकाएं 5000 रुपए से सम्मिलित होंगी जिन्होंने 10वीं 12वीं कक्षा करके चालू श्रेणिक सत्र के दौरान स्नातक डिग्री या डिप्लोमा में प्रवेश लिया हो

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना अप्लाई

Kanya Sumangala Yojana के तहत उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा ऑनलाइन अप्लाई की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। राज्य के जो इच्छुक लाभार्थी योजना के अंतर्गत अपनी बेटी का आवेदन करवाना चाहते हैं वह इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आसानी से अप्लाई करवा सकते हैं जैसे कि हमने आपको ऊपर बताया इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि 15000 रुपए सीधे लाभार्थी के बैंक अकाउंट में PFMS के माध्यम से ट्रांसफर कर दि जाएंगी इसीलिए अगर कोई इस योजना के अंतर्गत आवेदन करता है तो उसके पास बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है

प्रधानमंत्री कन्या सम्मान योजना 2021

योजना के तहत मिलने वाली धनराशि की किस्ते

इस योजना में आवेदन करने वाले लाभार्थियों को ₹15000 की धनराशि 6 किस्तों में मिलेगी इस योजना में आवेदन करने वाले लाभार्थियो को ₹15000 की धनराशि छह किश्तों में मिलेगी जिस का विवरण इस प्रकार है।

किश्तेस्टेज के प्रकारदी जाने वाली धनराशि
1-स्टेज कन्या के 1 अप्रैल 2019 या इसके या इसके बाद जन्म होने पर आवेदन 6 माह के भीतर होना चाहिए₹ 2000
2-स्टेज कन्या के एक साल तक के पूर्ण टीकाकरण के बाद    ₹ 1000
3-स्टेज कन्या के कक्षा 1 में प्रवेश लेने पर₹ 2000
4-स्टेज कन्या के कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर₹ 2000
5-स्टेज इसके बाद कक्षा 9 में प्रवेश लेने के बाद₹ 3000
6-स्टेज कक्षा 10 /12 वी  उत्तीर्ण करके चालू शैक्षिणिक सत्र के दौरान स्नातक /डिग्री या कम से कम दो वर्षीय डिप्लोमा में प्रवेश लेने पर₹ 5000

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की विशेषताएं

  • इस योजना के तहत कन्याओं को जन्म से लेकर पढ़ाई करने तक ₹15000 की धनराशि खर्च के लिए प्रदान की जाएगी।
  • इस योजना में आवेदन करवाने के लिए परिवार की वार्षिक आय 3 लाख या उससे कम होनी चाहिए।
  • Kanya Sumangala Yojana के अंतर्गत केवल दो लड़कियों को ही पात्र माना जाएगा
  • सरकार द्वारा इस योजना पर 1200 करोड़ रुपए का कुल बजट रखा गया।
  • अगर उत्तर प्रदेश में किसी परिवार ने किसी लड़की को गोद लिया है तो परिवार की जैविक संतान तथा गोद ली हुई संतान को सम्मिलित करते हुए केवल दो ही लड़कियों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा
Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana

सुकन्या समृद्धि योजना 2021

Benefits Of UP Kanya Sumangala Yojana

  • इस योजना के तहत बालिकाओं का विकास होगा तथा बालिकाओं को सामाजिक सुरक्षा भी प्रदान की जाएगी 
  • राज्य में बालिकाओ की सुरक्षा, संक्षारण स्वास्थ और शिक्षा संबंधित बाधाएं समाप्त की जाएंगी 
  • उत्तर प्रदेश कन्या सुमंगला योजना में आवेदन आप घर बैठे ही इंटरनेट के माध्यम से कर सकते हैं
  • इस योजना का लाभ एक परिवार की 2 लड़कियां ही उठा सकती हैं यदि किसी महिला की डिलीवरी के समय जुड़वाँ बेटियां होती हैं तो तीसरी लड़की भी इस योजना का लाभ उठा सकती है 
  • Kanya Sumangala Yojana के माध्यम से बालिकाओं में आत्मनिर्भरता और सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया जाएगा।

कन्या सुमंगला योजना आवेदन की पात्रता 

  • उत्तर प्रदेश का निवासी हो तथा उसके पास स्थायी निवास प्रमाण पत्र हो। 
  • लाभार्थी की पारिवारिक वार्षिक आय अधिकतम ₹-3 लाख हो।
  • किसी परिवार की अधिकतम दो ही बच्चियों को योजना का लाभ मिल सकेगा।
  • परिवार में अधिकतम दो बच्चे हों।
  • किसी महिला को द्वितीय प्रसव से जुड़वा बच्चे होने पर तीसरी संतान के रूप में लड़की को भी लाभ अनुमन्य होगा। 
  • यदि किसी महिला को पहले प्रसव से बालिका है व द्वितीय प्रसव से दो जुड़वा बालिकायें ही होती हैं तो केवल ऐसी अवस्था में ही तीनों बालिकाओं को लाभ अनुमन्य होगा।
  • यदि किसी परिवार ने अनाथ बालिका को गोद लिया हो, तो परिवार की जैविक संतानों तथा विधिक रूप में गोद ली गयी संतानों को सम्मिलित करते हुये अधिकतम दो बालिकायें इस योजना की लाभार्थी होंगी।
Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana

आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज (Documents)

  • राशन कार्ड
  • आधार कार्ड
  • वोटर पहचान पत्र
  • विद्युत/टेलीफोन का बिल मान्य होगा।
  • बैंक अकॉउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

किस श्रेणी का लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन किया जा रहा है?

श्रेणी 1 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • जन्म प्रमाण पत्र का पंजीयन संख्या, तिथि जन्म प्रमाण पत्र जारीकर्ता का विवरण भरना है।
  • जन्म कहां हुआ है ? इस ऑप्शन का चुनाव करना है जो इस प्रकार होगा-
  • संस्थागत प्रसव हॉस्पिटल, नर्सिंग होम
  • यात्रा के दौरान या अन्य किसी आकस्मिक परिस्थिति में,
  • घर अनियंत्रित किसी स्थान पर प्रशिक्षित कार्यकर्ता की देखरेख
  • जन्म प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर
  • एनसीटीएस का प्रमाण पत्र, मां का स्वास्थ्य विभाग में पंजीकरण व टीकाकरण कार्ड।

श्रेणी 2 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बालिका का नवीनतम फोटो
  • बालिका का टीकाकरण एससीपी कार्ड
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर

श्रेणी 3 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बालिका की फोटो
  • प्राचार्य द्वारा कक्षा 1 में प्रवेश देने हेतु जारी प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर

श्रेणी 4 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बालिका की फोटो
  • प्राचार्य द्वारा  कक्षा 6 में प्रवेश देने हेतु जारी प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर

श्रेणी 5 के लिए आवश्यक दस्तावेज

  • बालिका की फोटो
  • प्राचार्य द्वारा कक्षा 9 में प्रवेश देने हेतु प्रमाण पत्र
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर

 श्रेणी 6 के लिए आवश्यक दस्तावेज

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana
  • बालिका का नवीनतम फोटो
  • कक्षा बारहवीं उत्तीर्ण करने का प्रमाण पत्र
  • डिग्री या कम से कम 2 वर्षीय डिप्लोमा कोर्स में परिवेश की शुल्क रसीद
  • आवेदन पत्र संबंधित कॉलेज/विश्वविद्यालय के निदेशक रजिस्टर द्वारा सत्यापित
  • शपथ पत्र निर्धारित प्रारूप पर

Mukhyamantri Kanya Sumangala Yojana ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 

कन्या सुमंगला योजना के तहत प्रदेश सरकार ने ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया को मंजूरी दे दी है।

  • उत्तर प्रदेश राज्य के जो गरीब लोग इस योजना  आवेदन करना चाहते हैं तो वे इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर क्लिक कर सकते हैं।
  • इस लिंक पर क्लिक करके आपको इस वेबसाइट का होम पेज दिखाई देगा जिस पर आपको Citizen Service Portal के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा जिस पर आपको सारी जानकारी ध्यानपूर्वक भरनी है।
  • फिर आपको अपनी बैंक का नाम और अकाउंट नंबर लिखना है।
  • इसके बाद सबमिट बटन पर क्लिक करना है इस प्रकार आप की ऑनलाइन प्रक्रिया पूरी होती है।

Central Government Scheme 2021

मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना के अंतर्गत ऑफलाइन आवेदन

जो लोग ऑनलाइन आवेदन करने में सक्षम नहीं है वह अपने आवेदन ऑफलाइन माध्यम से भी जमा करवा सकते हैं। ऑफलाइन आवेदन खंड विकास अधिकारी, एसडीएम, जिला परिषद अधिकारी, उप मुख्य परिवीक्षा अधिकारी के कार्यालय में जमा कर सकते हैं।

Step- 1st
  • इसके लिए सबसे पहले आपको संबंधित कार्यालय से आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा जो कि निशुल्क मिलता है।
  • आवेदन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी सही तरीके से भरनी होगी। जो इस प्रकार होंगी- आवेदक का नाम, आवेदक का बालिका के साथ क्या रिश्ता है ? उसका चुनाव करे
  • माता, पिता & अभिभावक
  • उसके बाद बालिका का नाम हिंदी एवं  इंग्लिश में,जन्मतिथि, जन्म स्थान (जिला),
  • बालिका के माता पिता का नाम, अभिभावक का नाम यह सभी जानकारियां ध्यान पूर्वक भरनी हैं।
Step- 2nd
  •  उसके बाद लाभार्थी का परिवार उत्तर प्रदेश का निवासी है या नहीं,
  • स्थाई पता एवं पिन कोड दर्ज करना है, और वर्तमान पता और पिन कोड दर्ज करना है।
  • उसके बाद आपको परिवार की वार्षिक आय और परिवार में बच्चों की संख्या दो या उससे कम है या नहीं के विकल्प पर टिक करना है।
  • उसके बाद आपको परिवार में संतान की संख्या दर्ज करनी है, और आपको श्रेणी के चुनाव के ऑप्शन पर क्लिक करना है। जो इस प्रकार है-
  • अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति & अन्य पिछड़ा वर्ग, सामान्य
  •  आपको मोबाइल नंबर और योजना का लाभ कितनी बालिका है ले रही है उसकी संख्या दर्ज करनी हैं। जैविक और गोद ली हुई बालिकाओं की संख्या दर्ज करनी है।
  • उसके बाद आपको बैंक खाते का विवरण देना होगा जैसे खाता धारक का नाम, बालिका से संबंध, खाता संख्या, बैंक का नाम, बैंक की शाखा, आई एफ एस सी कोड।
  • फोन में भरी गई सभी जानकारियों को ध्यान पूर्वक भरने के बाद आपको राशन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, टेलीफोन बिल या बैंक पासबुक में से कोई भी एक प्रमाण पत्र फॉर्म के साथ अटैच करना होगा।
  • फिर आपका फोर्म सम्बंधित अधिकारी जिला प्रोबेशन अधिकारी के पास भेज देते हैं।
  • इसके बाद डीपीओ आपके आवेदन फॉर्म के सभी सूचनाओं को ऑनलाइन फीड करता है।
  • इस प्रकार आप की आगे की प्रक्रिया ऑनलाइन हो जाती है।

ज़िलेवार आवेदन सूची खोजने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश के आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको नए फीचर्स/रिपोर्ट्स का सेक्शन दिखाई देगा।
  • इस सेक्शन में आपको सभी जिले आवेदन सूची के विकल्प पर क्लिक करना है।
ज़िलेवार आवेदन सूची खोजने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आप को सभी जानकारी जैसे Financial Year, Quarter तथा Division दर्ज करनी है।
  • दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक कर देना है।
  • इस तरह से आपके सामने जिलेवार सूची खुलकर आ जाएगी

अपनी लॉगिन आईडी खोजने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने उनके खुलकर आएगा।
  • होम पेज पर आपको नए फीचर्स/रिपोर्ट्स का सेक्शन दिखाई देगा।
  • इस सेक्शन में से आपको अपनी लॉगिन आईडी खोजें के विकल्प पर क्लिक करना है।
अपनी लॉगिन आईडी खोजने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुलकर आएगा।
  • इस पेज पर आपको अपना Mobile Number तथा Captcha Code दर्ज करना है।
  • जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Verify Mobile Number क्लिक करना है
  • इस तरह से आप अपनी आईडी की खोज कर सकते हैं

कन्या सुमंगला योजना मार्गदर्शिका डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको शीघ्र संपर्क के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको कन्या सुमंगला योजना मार्गदर्शिका के विकल्प पर क्लिक करना है।
कन्या सुमंगला योजना मार्गदर्शिका डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • इस फाइल में आपको संबंधित जानकारी प्राप्त हो जाएगी।
  • इसे आप डाउनलोड के बटन पर क्लिक करके डाउनलोड कर सकते हैं।

नए पंजीकरण हेतु मार्गदर्शिका डाउनलोड करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश सरकार की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुलकर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको नए फीचर्स/ रिपोर्ट्स के सेक्शन में देखना है।
  • यहां आपको नए पंजीकरण हेतु मार्गदर्शिका के विकल्प पर क्लिक करना है।
नए पंजीकरण हेतु मार्गदर्शिका डाउनलोड करने की प्रक्रिया
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी
  • इस फाइल को आप डाउनलोड के बटन पर क्लिक कर डाउनलोड भी कर सकते हैं।

अधिकारी लोगिन करने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको महिला एवं बाल विकास विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस होम पेज पर आपको शीघ्र संपर्क के सेक्शन में देखना है।
  • यह आपको अधिकारी लॉगिन करें के विकल्प पर क्लिक करना है
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको संपूर्ण जानकारी जैसे Officer Role, District, Password तथा Captcha Code दर्ज करना है।
  • संपूर्ण जानकारी दर्ज करने के बाद आपको Submit के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार अधिकारी लॉगिन कर पाएंगे
  • Contact Details In Pdf

योजना के अंतर्गत प्रदान की गई धनराशि का बैंक अकाउंट में ट्रांसफर

  • लाभार्थी के नाबालिग होने की स्थिति में प्रदान की गई धनराशि उसकी मां के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जाएगी।
  •  मां की मृत्यु हो जाने की स्थिति में पिता के बैंक खाते में ट्रांसफर की जाएगी।
  • यदि अगर किसी लाभार्थी के माता-पिता दोनों की ही मृत्यु हो चुकी है तो धनराशि अभिभावक के खाते में प्रदान की जाएगी।
  •  लाभार्थी के बालिग हो जाने के बाद धनराशि उसके बैंक अकाउंट में सीधे टांसफार की जाएगी।
  • माता पिता की मृत्यु होने की स्थिति में मृत्यु प्रमाण पत्र साक्षी के रूप में अटैच करना होगा।

Leave a Comment