निपुण भारत मिशन 2023: जाने Nipun Bharat के उद्देश्य, लाभ व विशेषता

निपुण भारत मिशन योजना 2023 और Nipun Bharat Mission के कुछ मुख्य घटक , उद्देश्य, लाभ व मुख्य विशेषताएं देखे

यदि किसी भी देश को बेहतर बनाना हो या फिर विकास की राह पर उसे तेजी से ले जाना हो तो कहा जाता है कि शिक्षा के स्तर को सबसे पहले अच्छा करना चाहिए क्योंकि वह जितना ही ज्यादा बेहतर होगी देश में विकास के साथ ही साथ अर्थव्यवस्था में भी जान आ जाएगी और यदि देखा जाए तो भारत में आज भी शिक्षा व्यवस्था बहुत जगहों पर लचर साबित हुई है परंतु केंद्र सरकार के द्वारा नई नई नीतियां एवं योजनाओं के द्वारा शिक्षा के स्तर को निरंतर बेहतर बनाने का प्रयास किया जा रहा है और ऐसे में यदि देखा जाए तो जितने भी पिछड़े राज्य रहे हैं वहां पर अब जाकर साक्षरता प्रतिशत में भी बढ़ोतरी देखने को मिली है इसी क्रम में केंद्र सरकार ने निपुण भारत मिशन योजना(Nipun Bharat Mission Yojana) की शुरुआत की जिसके माध्यम से देश के जितने भी छात्र हैं

उन्हें आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक का ज्ञान देना अनिवार्य कर दिया गया है और अब से तीसरी कक्षा के छात्रों को साक्षरता और संख्यात्मक कौशल प्रदान किया जाएगा जिससे वह आगे की पढ़ाई को व्यवस्थित तौर पर कर सकें।

Nipun Bharat Mission Yojana 2023

गत वर्ष 5 जुलाई 2022 को केंद्र सरकार के अधीन शिक्षा मंत्रालय के माध्यम से निपुण भारत मिशन योजना को व्यवस्थित रूप से शुरू किया गया था।जिसके द्वारा कक्षा 3 से ही छात्रों को आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मक कौशल का ज्ञान देना अनिवार्य कर दिया गया।भारत सरकार ने 5 वर्षों के अंतर्गत संपूर्ण देश में तीसरी कक्षा के सभी छात्रों को गणित एवं आधारभूत साक्षरता के सीखने की क्षमता को विकसित करने का लक्ष्य रखा है और इस योजना को समग्र शिक्षा का ही एक कार्यक्रम भी घोषित किया गया है ऐसे में इसे राष्ट्रीय स्तर पर संचालित भी किया जाएगा जिससे सरकार के नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को मजबूती भी मिलेगी।

 Nipun Bharat Mission

नई शिक्षा नीति

निपुण भारत मिशन योजना का उद्देश्य

देश में आज भी जितने छात्र छात्राएं है जो निचले स्तर की कक्षा में पढ़ते है वह मानसिक तौर पर ज्ञान अर्जित करने के लिए क्षमता नहीं रखते है।ऐसे में भारत सरकार के द्वारा इस महत्वपूर्ण योजना NIPUN Bharat Mission के माध्यम से उन छात्रों को आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक के ज्ञान शुरुवात कक्षा में देने का निर्णय लिया गया जिससे उनके अंदर कुछ सीखने समझने की क्षमता विकसित हो सके और आगे चल कर उन्हे उच्च स्तर की पढ़ाई हेतु किसी प्रकार की कोई समस्या का सामना ना करना पड़े।

इसलिए सरकार ने NIPUN Bharat Mission के द्वारा वर्ष 2026-27 तक यानी 5 वर्षों तक देश के संपूर्ण स्कूली बच्चों को तीसरी कक्षा के अंत तक आधारभूत साक्षरता,संख्यात्मक कौशल सीखने की क्षमता प्रदान करने का लक्ष्य रखा है।इस योजना के संचालित होने से बच्चों के अंदर मानसिक एवं शारीरिक विकास भी तेजी से होगा और ऐसे में उन्हें उच्च स्तर की पढ़ाई में किसी भी प्रकार की दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़ेगा।

Key Highlights of Nipun Bharat Mission 2023

योजनानिपुण भारत मिशन योजना 2023
शुरुवात5 July 2022
शुभारंभतत्कालीन शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक जी द्वारा
मंत्रालयस्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग, केंद्र सरकार
लाभार्थी देश के कक्षा तीन के बाद के सभी छात्र-छात्राएं
उद्देशबच्चों को आधारभूत साक्षरता और संख्यात्मक ज्ञान प्रदान करना
लक्ष्य 5 वर्षों में 3 कक्षा के बच्चों को पढ़ने ,लिखने और सख्यातमक गणित का ज्ञान प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट Click Here

Nipun Bharat Mission Yojana के माध्यम से किन कार्यों को सम्मिलित किया जाएगा?

  • बच्चों को अपनी कक्षा में कहानी एवं कविताएं सुनाने को प्रेरित किया जाएगा जिससे उनके अंदर जो हिचकिचाहट है वह दूर हो सकेगी।
  • कहानियों को लिखने के लिए प्रेरित किया जाएगा जिससे वह शब्दो का इस्तेमाल करना सीख सकेंगे।
  • छात्र छात्राओं को अपने अनुभव को साझा करना और उस पर आधारित लेखन का तरीका सिखाने का कार्य किया जाएगा।
  • अपने स्कूल में Drama & Roll Play करने को प्रेरित किया जाएगा।
  • प्रिंट समृद्धि वातावरण को बनाने का प्रयास करना।Drawing बनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
  • अपनी कक्षा में ऊंचे स्वर में पढ़ना कक्षा में Reading करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।
  • Picture को देख कर Reading करना 
  • कक्षा की दीवारों को किस प्रकार से उपयोग किया जाता है उसका तरीका बताना।

E Shram Card Nipun Yojana

Nipun Bharat Mission Yojana के द्वारा क्या क्या सुधार किए जाएंगे।

भारत सरकार ने अपनी नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति के अंतर्गत निपुण भारत मिशन योजना के द्वारा कुछ सुधार भी किए हैं जिसके बारे में हम आपको निम्नलिखित विस्तार से बताने जा रहे हैं।

स्कूली बच्चों को शिक्षा में प्रोत्साहित करना

आज भी अधिकतर स्कूल कॉलेजों में यह देखने को मिलता है कि जितने भी छोटे कक्षा के बच्चे होते हैं वह ठीक प्रकार से पढ़ नहीं पाते और ना ही उनका किसी चीज में ध्यान लग पाता है और ऐसे में यदि उन्हें प्रोत्साहित नहीं किया गया तो वह पढ़ाई से दूर भटकते जाएंगे इसलिए उनके ऊपर इस Nipun Bharat Mission Yojana के माध्यम से विशेष ध्यान दिया जाएगा जिससे उनके मस्तिष्क में कार्यक्षमता बढ़ेगी और जितना ही छोटी उम्र में उनकी सीखने की क्षमता विकसित की जाएगी वह उतने ही ज्यादा अपने दिमाग का प्रयोग भी कर सकेंगे और जो बातें उन्हें नहीं समझ आएगी उन्हें प्रैक्टिकली तौर पर समझाने का भी प्रयास पूर्ण रूप से किया जाएगा।

बच्चों को विद्यालय जाने हेतु प्रेरित करना

आज भी बहुत से ऐसे छोटे बच्चे होते हैं जो स्कूल अथवा विद्यालय जाने के नाम पर ही और रोने लगते हैं और वह वहां जाने से कतराते हैं परंतु यदि उन्हें स्कूल नहीं भेजा गया तो वह नई-नई बातों और ज्ञान सीखने से वंचित रह जाएंगे इसलिए उन्हें विशेष तौर पर स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करना अनिवार्य है क्योंकि वह वहां जाकर बहुत सी नई बातें सीखेंगे और उसके साथ ही साथ पर्यावरण वातावरण शारीरिक शिक्षा भौगोलिक बातें आदि सीखने का भी मौका होने प्राप्त हो सकेगा।

बच्चो के सीखने की क्षमता का आंकलन करना

जब भी कोई बच्चा स्कूल जाकर शिक्षा प्राप्त करता है या फिर कोई नई नई चीजें सीखता है तो शिक्षकों को खासतौर से उन चीजों पर ध्यान देना चाहिए कि बच्चे के अंदर सीखने की क्षमता कैसी है और उसका विशेष तौर पर आकलन भी करना चाहिए ताकि इससे यह पता किया जा सके कि तकनीकी क्षेत्र में वह बच्चा अपनी कितनी मजबूत पकड़ रखता है और यदि शिक्षकों ने इन चीजों पर रुचि रख ली और बच्चों पर विशेष तौर पर ध्यान दिया तो यह निश्चय है कि वह बच्चा आगे चलकर काफी तेज होगा और पढ़ने लिखने में उसका और भी ज्यादा मन लगेगा।

आधारभूत साक्षरता तथा संख्यात्मकता कौशल से आप क्या समझते है?

भारत सरकार की तरफ से शुरू की गई एक महत्वपूर्ण योजना Nipun Bharat Mission Yojana के द्वारा छात्रों को जो आधारभूत साक्षरता एवं संख्यात्मक कौशल प्रदान किया जाएगा वह एक प्रकार की सरकार की नई शिक्षा नीति के अंतर्गत ही कार्य करने की क्षमता को प्रदर्शित करता है जिसके माध्यम से उन सभी छोटे स्तर के छात्रों को जो कक्षा 3 से शुरू की गई है उन्हें पढ़ना लिखना बोलना व्याख्या करना आदि जैसा ज्ञान प्रदान किया जाएगा और उसके साथ ही साथ उन्हें गणित के संख्यात्मक ज्ञान को भी विकसित करने का प्रयास किया जाएगा ऐसे में उन्हें जितना ही अधिक ज्ञान मिलेगा वह आगे चलकर जब उच्च स्तर की पढ़ाई करेंगे तो उन्हें किसी प्रकार की कोई समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।

निपुण भारत मिशन योजना के माध्यम से किन बातों पर ध्यान दिया जाएगा?

  • बच्चों के सीखने की क्षमता और परिणाम पर विशेष ध्यान देने का कार्य किया जाएगा।
  • आगामी उच्च शिक्षा के स्तर पर ध्यान दिया जाएगा
  • शिक्षा की गुणवत्ता पर भी विशेष ध्यान देने का कार्य किया जाएगा।
  • परिणाम के परी मानव की उपलब्धियों का मापन करने के बारे सिखाने का कार्य किया जाएगा।
आधारभूत साक्षरता के कुछ मुख्य घटक
  • मौखिक भाषा का विकास करना
  • Writing सीखना
  • Decoding सीखना
  • Sound से संबंधित जागरूकता
  • Reading Comprehension
  • GLOSSARY
  • पढ़ाई का तरीका
संख्यात्मक कौशल के कुछ मुख्य घटक
  • Data Storage
  • Measurement
  • Mathematical Communication
  • Number Concept
  • Size & Location
  • Number & Operation on Number Pattern

Leave a Comment