झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2021- ASHA Yojana, ऑनलाइन आवेदन

झारखंड आजीविका संवर्धन होनर अभियान ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया | ASHA Yojana Online Registration Process, Eigibility |

झारखंड मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा ग्रामीण महिलाओं की आर्थिक सशक्तिकरण को लेकर महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने का फैसला लिया गया है। इस फैसले के तहत मंगलवार 29 सितंबर 2020 को झारखंड मंत्रालय द्वारा आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA Yojana) फूलों झानो आशीर्वाद अभियान तथा पलाश ब्रांड का शुभारंभ किया गया है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य है कि अब सड़क किनारे कोई भी ग्रामीण महिला हंड़िया दारु नहीं बेचेगी। तो चलिए दोस्तों आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने जा रहे हैं कृपया इस आर्टिकल को विस्तार से पढ़ें।

Ajivika Sarvdhan Hunar Abhiyan (ASHA Yojana)

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान को राज्य के ग्रामीण महिला जो सड़क पर हड़िया दारु बेच कर अपने परिवार का भरण पोषण करती है उनके लिए शुरू की गई है इस योजना के तहत हर महिलाओं को हड़िया दारु बेचने के काम से हटाकर विभिन्न तरह के रोजगार अक्सर प्रदान किए जाएंगे ताकि महिलाएं रोजगार प्राप्त कर सके और अपने परिवार का पालन पोषण अच्छे से कर सकें। जैसे कि हम सब जानते हैं महिला हड़िया दारु बनाने और बेचने का काम बेहद मजबूरी में ही करती है और हड़िया दारु एक अभिशाप है। सरकार द्वारा यह एक बहुत ही महत्वपूर्ण कदम उठाया गया है इस योजना को लेकर सरकार का उद्देश्य था कि शराब बेचकर परिवार चलाने के लिए अब महिलाएं मजबूर ना हो आजीविका से जुड़कर विभिन्न तरह के रोजगार प्राप्त करें और अपना जीवन अच्छे से यापन करें।

झारखंड बेरोजगारी भत्ता 2021

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान का उद्देश्य

जैसे कि हम सब जानते हैं कि हमारे देश में अब भी काफी ऐसी ग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं हैं जो हड़िया दारु बेच कर अपने परिवार का भरण पोषण करती हैं और उन्हें काफी कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ता है इसी चीज को मद्देनजर रखते हुए झारखंड मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा आजीविका संवर्धन हुनर अभियान आशा योजना को आरंभ किया गया है इस योजना के तहत 17 लाख महिलाओं को अब आजीविका से जोड़कर हर संभव मदद प्रदान की जाएगी और उन्हें कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण एवं प्रसंस्करण उद्यमिता समेत स्थानीय संस्थानों से जोड़कर नए नए रोजगार के अवसर भी प्रदान किए जाएंगे ताकि वह अपना जीवन अच्छे से यापन करें और आत्मनिर्भर व सशक्त बने। 

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान आशा योजना मुख्य तथ्य

योजना का नामझारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2021- ASHA Yojana
किसके द्वारा शुरू की गईझारखंड मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा
आरंभ तिथि29 सितंबर 2020
उद्देश्यग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को रोजगार प्रदान करना
लाभार्थीग्रामीण क्षेत्र की महिलाएं
लाभमहिलाओं को हड़िया दारू बेचने से बचाना और विभिन्न प्रकार के रोजगार अवसर प्रदान करना
आवेदन का प्रकारअभी उपलब्ध नहीं
आधिकारिक वेबसाइटअभी उपलब्ध नहीं
झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2021- ASHA Yojana, ऑनलाइन आवेदन

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान के लाभ

  • इस योजना का मुख्य लाभ यह है कि महिलाओं को हड़िया दारु से हटाकर सम्मानजनक आजीविका के साधनों से जोड़ा जाएगा।
  • महिलाओं को उनके इच्छा अनुसार वैकल्पिक स्वरोजगार एवं आजीविका अवसर प्रदान किए जाएंगे। ‌
  • महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादों को पलाश ब्रांड के तहत वजह से जोड़ने की तैयारी की जाएगी।
  • इस योजना के तहत 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को इस योजना से जोड़ा जाएगा।
  • ASHA Yojana का मुख्य लाभ यह है कि महिलाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से अपने परिवार का भरण पोषण आसानी से कर पाएंगी।
  • मिशन सक्षम के डेटाबेस में दर्ज 4.17 लाख प्रवासी में से करीब 3.6 लाख प्रवासी के परिवार को आशा के तहत फायदा दिया जाएगा
  • झारखंड स्टेट लाइवलीहुड परियोजना द्वारा संचालित विभिन्न परियोजना के तहत करीब 12 सौ करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है

फूलों झानो आशीर्वाद योजना

  • इस योजना के तहत राज्य की 12000 से ज्यादा हड़िया दारु निर्माण एवं बिक्री से जुड़ी महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान किए जाएंगे
  • महिलाओं को उनकी इच्छा अनुसार स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य किया जाएगा
  • उनमें से कुछ महिलाओं को आजीविका मिशन के तहत सक्रिय केडर के रूप में चुना जाएगा।

पलाश ब्रांड

  • महिलाओं द्वारा निर्मित उत्पादों को पलाश ब्रांड के तहत बाजार से जोड़ा जाएगा।
  • राज्य के ग्रामीण महिला निर्मित उत्पादों को अच्छी पैकेजिंग ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग की सुविधा समझ पाएंगे
  • महिलाओं को एक सफल उद्यमी के रूप में स्थापित किया जाएगा।
  • इस ब्रांड को बनाने का मुख्य उद्देश्य है कि महिलाओं की आय में वृद्धि हो और वह सशक्त बने
  • सखी मंडल की विधियां कृषि उत्पाद मास्क सैनिटाइजर सजावटी सामान समेत उत्पादों का निर्माण कर रही हैं पलाश उन उत्पादों को नया ब्रांड वैल्यू देगा

Jharkhand Govt Scheme 2021

पलाश ब्रांड को विश्वस्तरीय बनाने का फैसला

झारखंड मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन द्वारा पलाश ब्रांड को दुनिया भर में अलग पहचान दिलाने का फैसला किया गया है। मुख्यमंत्री का कहना है कि आप सभी लोगों को पलाश ब्रांड को एक विश्वस्तरीय ब्रांड बनाने की दिशा में काम करना होगा। पलाश ब्रांड के तहत महिला अपने उत्पाद इससे जोड़ेंगी और वह अपने उत्पादों को पलाश के नाम से बेच पाएंगी ताकि उनमें सशक्तिकरण बड़े। मुख्यमंत्री का कहना है कि अगर पलाश को सही तरीके से आगे बढ़ाया जाए तो यह अमूल और लिज्जत पापड़ की तरह बहुत आगे तक पहुंच जाएगी। मुख्यमंत्री द्वारा घोषणा की गई है कि पलाश ब्रांड में फिलहाल खाने-पीने की ही उत्पाद रखे गए हैं और आगे चलकर इसमें जूता, चप्पल, साड़ी आदि समान भी जोड़े जाएंगे।

महिलाएं बनेंगी आत्मनिर्भर

झारखंड के मुख्यमंत्री द्वारा ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है। मुख्यमंत्री का कहना है कि सरकार इस मुहिम में अपना पूरा योगदान देगी और पलाश फ्रेंड का पूरी तरह से उपयोग करेगी। आपको बता दें कि पलाश फ्रेंड और ब्रांडों से काफी सस्ती है मुख्यमंत्री द्वारा उनके घर में भी पलाश ब्रांड के उत्पाद उपयोग शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री की पूरे प्रदेश से अपील है कि वह भी पलाश ब्रांड का उपयोग करें और अपने राज्य की महिलाओं को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाने का प्रयास करें।

झारखंड आजीविका संवर्धन होनर अभियान (ASHA Yojana) आवेदन प्रक्रिया

राज्य की जो इच्छुक महिलाएं आजीविका संवर्धन हुनर अभियान आशा योजना में आवेदन करवाना चाहती हैं उन्हें अभी थोड़ा इंतजार करना होगा क्योंकि अभी सरकार द्वारा इसकी अधिकारिक वेबसाइट लॉन्च नहीं की गई है जैसे ही इसकी अधिकारिक वेबसाइट को लांच किया जाएगा हम आपको अपने आर्टिकल के माध्यम से इस योजना से जुड़े संपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे तब तक बने रहिए हमारे साथ हमारी वेबसाइट पर।

Jharkhand Government Official Website

Leave a Comment