झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना 2023, ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

जैसा कि हम सब जानते हैं कि प्राकृतिक आपदाओं से कोई नहीं बच पाया है चाहे आप जितने ही बड़े मकान निर्मित कर ले परंतु यदि प्राकृतिक आपदाएं आती हैं या फिर तूफान और ओलावृष्टि होती है तो ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों के बड़े से बड़े मकान ढह जाते हैं जिससे वह बेघर हो जाते हैं ऐसा ही परिस्थिति झारखंड राज्य में देखने को मिली जिस कारण से राज्य सरकार ने बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का शुभारंभ किया जिसके माध्यम से जितने लोगों के घर प्राकृतिक आपदाओं के कारण ध्वस्त हुए हैं उन्हें पक्के मकान मुहैया कराया जाता है और इस लेख के माध्यम से हम आपको Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana से संबंधित जानकारी प्रदान करेंगे।

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana 2023

झारखंड के माननीय मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना की शुरुआत की गई जिसके माध्यम से ग्रामीण इलाकों में जितने भी परिवार रहते हैं जिनका मकान किसी तूफान या ओलावृष्टि के कारण क्षतिग्रस्त हो गया है उन्हें सीधे तौर पर इस योजना का लाभ प्रदान किया जाता है और इसके साथ ही साथ इस आपदा के द्वारा विधवा महिला एवं आवास विहीन महिलाओं को भी मकान देने का कार्य किया जाता है जिसके माध्यम से तीन किस्तों में ₹130000 सहायता राशि प्रदान की जाती है और उसके साथ 95 दिनों की मनरेगा की मजदूरी भी उन परिवारों को भेंट की जाती है

ऐसे में यदि देखा जाए तो पहली किस्त में 40000 दूसरी किस्म 50000 एवं तीसरे किश्त में ₹5000 का भुगतान Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के लाभार्थी को दिया जाता है जो कि सीधे तौर पर उनके Bank Account में Transfer हो जाता है।

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

यह भी पढ़े: झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना का उद्देश्य

झारखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के द्वारा राज्य के जितने भी ग्रामीण इलाके हैं उन में रह रहे सभी परिवारों को मकान निर्माण हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है और सरकार ने इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य यह रखा है कि राज्य में जितने भी लोगों के मकान प्राकृतिक आपदाओं तूफान एवं ओलावृष्टि के कारण नष्ट हुए हैं जिस वजह से वह मकान ना होने के कारण सड़क पर आ चुके हैं

ऐसे में उन लोगों को इस योजना के माध्यम से तीन किस्तों में ₹130000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है जिससे वह अपने घरों का पुनर्निर्माण करा सके और ऐसे में ग्रामीण इलाकों में नागरिकों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने का कार्य किया जा सकेगा और इस झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के द्वारा राज्य के नागरिकों को इलाकों में निवास करते हैं उन्हें सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाने का प्रयास किया जाएगा।

Key Highlights of Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana

योजना झारखण्ड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना
संचालनझारखंड राज्य सरकार द्वारा
विभागग्रामीण विकास मंत्रालय,झारखंड सरकार
लाभार्थीराज्य के सभी नागरिक जिनका मकान किसी प्राकृतिक आपदा,तूफान या ओलावृष्टि के कारण ध्वस्त होगा है
उद्देश्यनागरिकों को नुकसान की भरपाई हेतु आवास बनवाए के लिए सहायता राशि प्रदान करना
सहायता राशि1 लाख 30 हज़ार रुपए
किश्त तीन किस्त(पहली किस्त में ₹40000, दूसरी किस्त में ₹85000 एवं तीसरी किस्त में ₹5000 का भुगतान किया जाएगा)

Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का लाभ

  • झारखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई Jharkhand Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के माध्यम से ग्रामीण इलाकों में रहने वाले परिवारों के मकान यदि किसी एक प्राकृतिक आपदा तूफान और ओलावृष्टि के कारण नष्ट हुए हैं तो उन्हें राज्य सरकार द्वारा आर्थिक लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस महत्वपूर्ण योजना के अंतर्गत विधवा महिलाएं, आवास विहीन महिलाएं और विकलांगों को लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को 95 दिन की मनरेगा मजदूरी वह ₹130000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी।
  • इस योजना के द्वारा लाभार्थी को पहली किस्त में ₹40000, दूसरी किस्त में ₹85000 एवं तीसरी किस्त में ₹5000 का भुगतान किया जाएगा।
  • झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के माध्यम से लाभार्थी के Bank Account में सीधे तौर पर राशि Transfer की जाएगी।
Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana हेतु पात्रता
  • यदि कोई झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के अंतर्गत अपना आवेदन करना चाहता है तो उसके लिए उसे झारखंड राज्य का होना चाहिए।
  • इस महत्वपूर्ण Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana का पात्र केवल वही परिवार माना जाएगा जिसका मकान प्राकृतिक आपदा,ओलावृष्टि और तूफान के कारण नष्ट हुआ है।
  • इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी को केवल तभी लाभ प्रदान किया जाएगा जब उसके पास मकान से संबंधित पूर्ण रूप से दस्तावेज उपस्थित होगा।
योजना हेतु महत्वपूर्ण दस्तावेज
  • Aadhaar Card
  • Voter ID Card
  • Domicile Certificate
  • Income Certificate
  • Age Certificate
  • Ration Card
  • Bank Account Details
  • Passport Size Photo
  • Mobile Number
  • Email ID

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना हेतु आवेदन कैसे करें?

  • झारखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के अंतर्गत आवेदन करने की कोई प्रक्रिया नहीं उसके लिए सभी जिले के उपायुक्त द्वारा अपने जिले के लाभार्थियों की पहचान की जाएगी।
  • उसके बाद एक लाभार्थी सूची का विवरण तैयार किया जाएगा।
  • और उसे विभाग से संबंधित मुख्यालय में भेजा जाएगा।
  • और फिर संबंधित अधिकारियों के द्वारा सभी लाभार्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन किया जाएगा।
  • और फिर राज्य सरकार के द्वारा उन लाभार्थियों को इस योजना से जोड़ कर लाभ प्रदान किया जाएगा।

Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana से संबंधित कुछ सवाल जवाब (FAQs)

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के द्वारा कितनी आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है?

1 लाख 30 हजार रूपए

झारखंड बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना के द्वारा कितनी किश्तों में रुपए दिए जाते है?

तीन किस्तों में जोकि पहली किस्त में ₹40000, दूसरी किस्त में ₹85000 एवं तीसरी किस्त में ₹5000 का भुगतान किया जाएगा।

Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के द्वारा किन लोगों को लाभ प्रदान किया जाएगा?

वह परिवार जिसका मकान प्राकृतिक आपदा,ओलावृष्टि और तूफान के कारण नष्ट हुआ है।

Babasaheb Bhimrao Ambedkar Awas Yojana के द्वारा कितने दिनों की मनरेगा मजदूरी दी जाएगी?

95 दिनों की

Leave a Comment