(एप्लीकेशन फॉर्म) झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना 2021: ऑनलाइन अप्लाई 1008 आवास

Apply Online Lighthouse Scheme Jharkhand 2021 | झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना ऑनलाइन आवेदन | Jharkhand Light House Scheme Registration |

एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से 1 जनवरी 2021 को  प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा रांची में नए साल के पहले दिन पर देशभर में 6 लाइट हाउस प्रोजेक्ट (light house project) की नींव रखी गई। इस कार्यक्रम के दौरान आवासीय और शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी के अलावा त्रिपुरा, झारखंड, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, गुजरात, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री ने भी हिस्सा लिया। इस प्रोजेक्ट के तहत झारखंड में भी 1008 आवास का निर्माण कराया जाएगा। इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत राज्य के गरीब एवं आर्थिक स्थिति से कमजोर लोगों को सस्ते, भूकंप रहित एवं मजबूत मकान की सुविधा प्रदान की जाएगी।

देश के गरीब लोगों के लिए घर बनाने के लिए यह एक न्यू टेक्नोलॉजी है जिसे नागरिक आने वाले समय में लाइट हाउस प्रोजेक्ट के नाम से जानेंगे। तो आइए आज हम आपको झारखंड लाइट हाउस प्रोजेक्ट से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारियां जैसे ,उद्देश्य, लाभ, विशेषताएं, इंपॉर्टेंट डॉक्यूमेंट एवं ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया अपने इस आर्टिकल के माध्यम से प्रदान करेंगे। अगर आप भी इस लाइट हाउस प्रोजेक्ट का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो हमारी इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

Jharkhand Light House project

Lighthouse project के तहत आवास और शहरी कार्य मंत्रालय ने शहरी कमजोर एवं आर्थिक स्थिति से कमजोर वर्गों के लोगों को ध्यान में रखते हुए 6 राज्य मध्य प्रदेश में इंदौर, गुजरात में राजकोट, तमिलनाडु में चेन्नई, झारखंड में रांची, त्रिपुरा में अगरतला और उत्तर प्रदेश में लखनऊ को लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत आवास बनाने के लिए किया गया है। इस प्रोजेक्ट द्वारा चुने गए 6 राज्यों में 1000 से ज्यादा घर बनवाए जाएंगे। झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना के तहत लोगों को सस्ते एवं मजबूत मकान की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इस प्रोजेक्ट के निर्माण कार्य में समय की बचत होगी और लागत भी कम आएगी।

Pradhan Mantri Yojana 2021

इसके अलावा इस प्रोजेक्ट के दौरान बनाए गए घर भूकम रहित होंगे। इन प्रदेशों को प्रधानमंत्री आवास योजना (पीएमएवाई) के निर्देश अनुसार इस परियोजना के निर्माण के लिए केंद्रीय सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।  इस न्यू टेक्नोलॉजी के उपयोग और अर्थव्यवस्थाओं से संबंधित मुद्दों से निपटने और अन्य संबंधित कारकों के कारण होने वाले किसी भी अतिरिक्त लागत के प्रभाव को दूर करने के लिए प्रोघोगिकी नवाचार अनुदान (टीआईजी) का भी प्रावधान किया जाएगा।

झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना

Highlights Of Jharkhand Lighthouse Scheme

योजना का नामझारखंड लाइट हाउस परियोजना 2021
 कब आरंभ हुई1  जनवरी 2021
किसके द्वारा आरंभ की गईप्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा
योजना का उद्देश्यआर्थिक स्थिति से कमजोर एवं मध्यम वर्ग के लोगों को अपने घर की सुविधा प्रदान करना
योजना का लाभभूकंप रहित, सस्ते एवं मजबूत मकान
लाभार्थीआर्थिक स्थिति से कमजोर एवं मध्य वर्ग के नागरिक
सरकारकेंद्र तथा राज्य सरकार
आवेदन का प्रकारऑनलाइन आवेदन
आवेदन की तिथिअभी जारी नहीं
ऑफिशियल वेबसाइट अभी घोषित नहीं

रमाई आवास योजना 2021

झारखंड लाइटहाउस परियोजना का उद्देश्य

 प्रदेश के जिन मध्यम वर्ग के नागरिकों के पास आर्थिक स्थिति कमजोर होने के कारण अपना घर नहीं है ऐसे लोगों को घर की सुविधा उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ही झारखंड लाइटहाउस परियोजना बनाई गई है। इस योजना के अंतर्गत को झारखंड के नागरिकों को सस्ते, मजबूत एवं दुकान सहित घरों की सुविधा प्रदान की जाएगी। इस योजना के अंतर्गत झारखंड में लगभग 1008 आवासो का निर्माण किया जाएगा। प्रधानमंत्री जी द्वारा देश में छह राज्यों में ग्लोबल हाउसिंग टेक्नोलॉजी चैलेंज इंडिया (जीएचटीसी इंडिया) की नींव रखते हुए सभी के घर का सपना पूरा होने का भरोसा जताया है।झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना के अंतर्गत ये प्रोजेक्ट आधुनिक तकनीक और इनोवेटिव प्रोसेस से बनेंगे,  इसमें कंस्ट्रक्शन का समय कम होगा और गरीबों के लिए ज्यादा कम्फ़र्टेबल घर तैयार होंगे।

झारखंड हाउस प्रोजेक्ट के तहत आवास में मिलने वाली सुविधाएं

झारखंड में लाइट हाउस प्रोजेक्ट के तहत रांची के धुर्वा में 1008 आवास का निर्माण होना है। इसमें प्रति फ्लैट 13 लाख 29 हजार की लागत आने वाली है। इस प्रोजेक्ट के दौरान आने वाली लागत में केंद्र सरकार 5 लाख 5 हजार रुपये और राज्य सरकार क 1 लाख रुपया का खर्च देगी। जबकि लाभुक को 6 लाख 79 हजार रुपये देने होंगे। फ्लैट का कारपेट एरिया 315 वर्ग फीट होगा, जिसमें 1 लिविंग रूम, 1 बेडरूम, 1 किचेन, 1 शौचालय, 1 बाथरूम और 1 बालकनी की सुविधा उपलब्ध होगी।

Jharkhand Light House project

झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना में बिजली, पानी, आधारपूर्ण संरचना, पार्किंग व्यवस्था, लिफ्ट, अग्निशमन, पार्क इत्यादि की व्यवस्था भी होगी। रांची में 3D कंस्ट्रक्शन सिस्टम से घर बनेगा, इसमें जर्मनी की टेक्नोलॉजी का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। इससे ज्यादा सहूलियत और मजबूती के साथ इमारत खड़ी हो सकेगी। भविष्य में पूरे देश भर में इसका विस्तार हो सकता है। पानी बिजली जैसी मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित की गई। जियो टैगिंग की व्यवस्था से आवासीय निर्माण प्रक्रिया के हार चरण पर नजर रखी जा रही है।

फैक्ट्री में ही बनेंगे कमरे, बाथरूम एंड किचन

 बहुत जल्दी रांची के लोग इस नई तकनीक का दीदार करेंगे। इस तकनीक में जहां घर बनेगा वहां न तो बालू पहुंचेगा, न गिट्टी, न सीमेंट और न ही ईंट। इन तमाम चीजों का इस्तेमाल तो फैक्ट्री में होगा, जहां से रेडीमेड बाथरूम, बेडरूम और किचन उठाकर लाए जाएंगे और सीधे बहुमंजिली इमारत के स्ट्रक्चर के ऊपर इन कमरों को सजा दिया जाएगा।

इस तकनीक से सिंगापुर और जापान जैसे जगहों पर बहुमंजिला इमारतें तो बनी है लेकिन भारत में नहीं। देश के 5 शहरों में नई तकनीक से भवन निर्माण कार्य आरंभ किए जाएंगे। रांची में बनने वाले 1008 फ्लैटों के लिए जिस स्थल का चयन किया गया है वहां सिर्फ पिलर को खड़ा कर छत की ढलाई की जाएगी और बाकी सामग्रियां शहर के बाहर बनी फैक्ट्रियों से लाई जाएंगी और फिर क्रेन के सहारे छत पर रख दी जाएंगी। पहले से तैयार सीमेंट की दीवारों से बने इन कमरों की लागत तो कम होगी ही, मजबूती भी बेमिसाल होगी। सबसे बड़ा फायदा यह है के आसपास के इलाकों में बालू और सीमेंट की धूल का गुबार नहीं उड़ेगा।

इंदिरा गांधी आवास योजना 2021

1008 फ्लैट बनने में कितना समय में लगेगा

परियोजनाएं पारंपरिक तौर पर ईंट व कंक्रीट वाले निर्माण के मुकाबले कहीं अधिक तेजी से महज 12 महीने में तैयार हो जाएंगे। वन बीएचके फ्लैट उच्च गुणवत्ता के साथ किफायती और टिकाऊ भी होंगे। इसका कारपेट एरिया लगभग 350 वर्ग फीट होगा।

झारखंड में 1008 आवास बनाने का बजट

1008 लाइट हाउसों की झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना 133.99 करोड़ की है। इसका निर्माण मेसर्स एसजीसी मेजीक्रेट, मुम्बई द्वारा किया जाएगा। इस परियोजना में प्रति आवास केंद्र सरकार के द्वारा 5.5 लाख रुपये, राज्य सरकार द्वारा 1 लाख रुपये एवं लाभुक का अंशदान 6.79 लाख रुपए होगा। लाइट हाउस निर्माण में प्लास्टर का उपयोग नहीं होगा। इस निर्माण तकनीक के साथ राज्य और पूरे देश में पहली बार इतने बड़ी परियोजना बनी है।

Jharkhand Light House project

झारखंड को पांच पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा

शिलान्यास कार्यक्रम में केंद्रीय आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा विभिन्न नगर निकायों एवं लाभुकों को विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कृत किया जाएगा। इसमें झारखंड को पांच पुरस्कार मिलेंगे। उत्कृष्ट आवास के लिए जामताड़ा के बादल दास, आदित्यपुर के शंभू सरदार और मानगो के संजय धरा को सम्मानित किया जाएगा। वहीं उत्कृष्ट नगर परिषद् के क्षेत्र में झुमरीतिलैया नगर परिषद को सम्मानित किया जाएगा। साथ ही, झारखंड राज्य को बेस्ट कम्युनिटी मोबिलाइजेशन के लिए पुरस्कृत किया जाएगा।

Benefits Of Jharkhand Lighthouse Scheme

  • लाइट हाउस प्रोजेक्ट के अंतर्गत झारखंड के रांची में 1008 घरों का निर्माण किया जाएगा।
  • इस परियोजना का लाभ केवल आर्थिक स्थिति से कमजोर एवं मध्यम वर्ग के लोगों को ही प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत बनाए जाने वाले घर न्यू टेक्नोलॉजी से बनाएं जाएंगे।
  • 1008 घरों को बनाने के लिए 133.99 करोड़ का बजट निर्धारित किया गया है।
  • झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना में प्रति आवास केंद्र सरकार के द्वारा 5.5 लाख रुपये
  • राज्य सरकार द्वारा 1 लाख रुपये एवं लाभुक का अंशदान 6.79 लाख रुपए होगा।
  •  हर जगह एक साल में 1,000 घर बनाए जाएंगे, अगली 26 जनवरी से पहले इस काम में सफलता पाने का इरादा है।
  • घर बनाने से जुड़े लोगों को नई तकनीक से जुड़ी स्किल अपग्रेड करने के​ लिए सर्टिफिकेट कोर्स भी शुरू किया जा रहा है
  • ताकि देशवासियों को घर निर्माण में दुनिया की सबसे अच्छी तकनीक और मटेरियल मिल सके।

प्रधानमंत्री आवास योजना 2021

झारखण्ड लाइट हाउस परियोजना की विशेषताएं

  • बैंक की ऊंची ब्याज दर, कर्ज मिलने में होने वाली दिक्कते इसका एक मुख्य कारण थी
  • और घरों की कीमतें इतनी ज्यादा हो गईं थी कि लोगों का अपने घर का सपना टूटने लगा था।
  • गरीबों को मिलने वाले घर के साथ-साथ दूसरी योजना को भी एक पैकेज की तरह जोड़ा गया है
  • गरीब को जो घर मिल रहे हैं उसमें पानी, बिजली, गैस, शौचालय
  • और अन्य आवश्यक सुविधाएँ सुनिश्चित की जा रही हैं।
  • इंफ्रास्ट्रक्चर और कंस्ट्रक्शन पर होने वाला निवेश
  • और विशेषकर हाउसिंग सेक्टर पर किया जा रहा खर्च अर्थव्यवस्था में force multiplier का काम करता है।
  • इतनी बड़ी मात्रा में स्टील, सीमेंट, कंस्ट्रक्शन मैटीरियल का लगना पूरे सेक्टर को गति देता है।

झारखंड लाइट हाउस परियोजना की आवेदन प्रक्रिया

झारखंड लाइटहाउस परियोजना का आवेदन करने के लिए जो भी इच्छुक लाभार्थी हैं उन्हें अभी इंतजार करना होगा क्योंकि अभी इस परियोजना की घोषणा की गई है। जैसे ही झारखंड लाइट हाउस परियोजना की ऑफिशियल वेबसाइट को लॉन्च किया जाएगा वैसे ही हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आवेदन करने की पूरी प्रक्रिया प्रदान कर देंगे।

Nationa Portal Of India- india.gov.in

Leave a Comment