यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2021: (UP Bhagya Laxmi) ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

UP Bhagya Laxmi Yojana Online Apply | यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन फॉर्म | यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना रजिस्ट्रेशन

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज के दौर में भी काफी सारे ऐसे लोग हैं जो बेटियों की भ्रूण हत्या कर देते हैं। यह हमारे देश की एक बहुत बड़ी समस्या है। इस समस्या की वजह से लड़कियों की संख्या लड़कों से कम हो गई है। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना आरंभ की है।  यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश में पैदा होने वाली लड़कियों को समय-समय पर आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे जैसे कि आवेदन करने की प्रक्रिया, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज आदि। यदि आप यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना से जुड़ी सभी जानकारी जानना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि आप हमारे इस लेख को अंत तक पढ़ें।

UP Bhagya Laxmi Yojana 2021

भाग्यलक्ष्मी योजना के माध्यम से उत्तर प्रदेश राज्य में जन्म लेने वाली बेटियों को जन्म के समय उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से ₹50000 की धनराशि प्रदान की जाएगी। इसी के साथ बेटी की मां को ₹5100 की धनराशि प्रदान की जाएगी। UP Bhagya Laxmi Yojana के अंतर्गत जब बेटी छठी कक्षा में आएगी तो उसके माता-पिता को ₹3000 की धनराशि दी जाएगी,

जब वह आठवीं कक्षा में आएगी तो उसके माता-पिता को ₹5000 की धनराशि दी जाएगी, जब वह दसवीं कक्षा में आएगी तो उसके माता-पिता को ₹7000 की धनराशि दी जाएगी और जब 12वीं कक्षा में आएगी तो उसके माता पिता को ₹8000 की धनराशि सरकार द्वारा दी जाएगी। इसी के साथ जब बेटी 21 वर्ष की आयु पूर्ण कर लेगी तो उसके माता-पिता को ₹200000 की धनराशि प्रदान की जाएगी। इस योजना की वजह से बेटियों कि भ्रूण हत्या में कमी आएगी और बेटी के माता पिता बेटी की पढ़ाई कराने के लिए प्रोत्साहित होंगे।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2020: (UP Bhagya Laxmi) ऑनलाइन आवेदन फॉर्म

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का उद्देश्य (Objective)

भाग्यलक्ष्मी योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक सहायता के माध्यम से बेटियों की भ्रूण हत्या को रोकना है। भ्रूण हत्या का एक मुख्य कारण आर्थिक तंगी है। इस आर्थिक तंगी को दूर करने के लिए सरकार समय-समय पर बेटी के माता-पिता को धनराशि प्रदान करेगी। जिसकी वजह से बेटियों के जीवन स्तर में बढ़ोतरी होगी। UP Bhagya Laxmi Yojana 2021के माध्यम से यूपी सरकार बेटी के पढ़ाई के लिए भी धनराशि प्रदान करेगी अथवा बेटी के विवाह के लिए भी धनराशि प्रदान करेगी।

Key Highlights Of UP Bhagya Laxmi Yojana 2021

आर्टिकल किसके बारे में हैUP Bhagya Laxmi Yojana 2021
किस ने लांच की स्कीमउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश में जन्म लेने वाली बेटियां
उद्देश्यइस योजना का मुख्य उद्देश्य आर्थिक सहायता प्रदान करके बेटियों की भ्रूण हत्या रोकना है।
ऑफिशियल वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2021
स्कीम उपलब्ध है या नहींउपलब्ध

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का लाभ

भाग्यलक्ष्मी योजना का लाभ वह सभी परिवार उठा सकते हैं जिनकी वार्षिक आय ₹200000 से कम है या वह बीपीएल कैटेगरी को बिलॉन्ग करते हैं। इस योजना का लाभ परिवार की सिर्फ दो बेटियों को प्रदान किया जाएगा। इसका मतलब यह है कि यदि परिवार में 2 से अधिक बेटियां हैं तो सिर्फ परिवार की दो बेटियां ही इस योजना का लाभ उठा सकती हैं। यह योजना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की चुनाव घोषणा पत्र में ऐलान की हुई योजनाओं में से एक है।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • UP Bhagya Laxmi के अंतर्गत राज्य के गरीब परिवारों में जन्मी बेटियों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • बेटी का जन्म होने पर ₹50000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। जब बेटी छठी कक्षा में आएगी तो ₹3000, आठवीं कक्षा में आएगी तो ₹5000, दसवीं कक्षा में आएगी तो ₹7000, 12वीं कक्षा में आएगी तो ₹8000 और 21 वर्ष की होगी तो ₹200000 सरकार द्वारा  बेटी के माता पिता को प्रदान किए जाएंगे।
  • बेटी के जन्म पर बेटी की माता को 5100 रुपए की धनराशि प्रदान की जाएगी।
  • योजना का लाभ परिवार की सिर्फ दो बेटियां ही उठा सकती हैं।
  • इस योजना का समय-समय पर लाभ उठाने के लिए बालिकाओं को शिक्षा सरकारी शिक्षण संस्थान से प्राप्त करनी होगी।
  • इस योजना की वजह से बेटियों की भ्रूण हत्या में कमी आएगी।
  • योजना की वजह से लड़कियां शिक्षा प्राप्त कर पाएंगी और लड़कियों के विवाह कराने में भी किसी परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए माता-पिता बेटी से बाल श्रम नहीं करवा सकते।
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए बेटी का विवाह 18 साल से पहले नहीं करवाया जा सकता।
  • योजना के अंतर्गत बेटी का जीवन बीमा करवाना अनिवार्य होगा।
  • इस योजना से लड़कियों के जीवन स्तर में भी बढ़ोतरी होगी।
  • इस योजना का आयोजन महिला कल्याण विभाग द्वारा किया जाएगा।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना पात्रता मानदंड (Eligibility)

  • बेटी के माता-पिता को उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना अनिवार्य है।
  • आवेदक के परिवार की वार्षिक आय ₹200000 से कम होनी चाहिए।
  • बेटी के जन्म के 1 वर्ष के अंदर अंदर ही जन्म नामांकन की प्रक्रिया पूरी हो जानी चाहिए।
  • बेटी को स्वास्थ्य विभाग से रोग प्रतिरक्षी करवाना आवश्यक है।
  • लड़की का जन्म वर्ष 2006 के बाद हुआ होना चाहिए।

भाग्यलक्ष्मी योजना महत्वपूर्ण दस्तावेज (Documents)

  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • बालिका का जन्म प्रमाण पत्र
  • बैंक अकाउंट पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 2021

यदि आप उत्तर प्रदेश भाग्यलक्ष्मी योजना में आवेदन करना चाहते हैं तो नीचे दिए गए प्रक्रिया को फॉलो करें।

  • सबसे पहले आपको महिला एवं बाल विकास विभाग उत्तर प्रदेश की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (Apply Online)
  • अब आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • अब आपको यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना की एप्लीकेशन फॉर्म पीडीएफ की लिंक ढूंढनी होगी।
  • यह लिंक मिल जाने पर इस पर क्लिक करके आपको एप्लीकेशन फॉर्म डाउनलोड करना होगा।
यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया (Apply Online)
  • अब आपको एप्लीकेशन फॉर्म में पूछी गई सभी जानकारी जैसे कि नाम, पता आदि भरना होगा।
  • आपको मांगे गए सभी दस्तावेजों को फॉर्म के साथ अटैच करना होगा।
  • अब आपको इस फॉर्म को अपने नजदीकी आंगनवाड़ी केंद्र या फिर महिला कल्याण विभाग कार्यालय में जमा करना होगा।
  • इस तरह यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना में आवेदन की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

Leave a Comment