राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2021- ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन | एप्लीकेशन स्टेटस

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना ऑनलाइन अप्लाई | Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana Application Form PDF | राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना पंजीकरण

सरकार द्वारा किसानों और मजदूरों को लाभ प्रदान करने हेतु विभिन्न प्रयास किए जाते हैैं। इसी प्रकार छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राज्य के ग्रामीण भूमिहीन मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से उन मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी जिनके पास अपनी जमीन का एक छोटा सा टुकड़ा भी नहीं है और कोई अन्य आय का साधन भी नहीं है। सरकार द्वारा इन सभी मजदूरों को आर्थिक रुप में समर्थन देकर न्याय दिया जाएगा। यदि आप भी राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2021 से जुड़ी संपूर्ण जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप से निवेदन है कि हमारे इस लेख को विस्तार पूर्वक पढ़ें।

Table of Contents

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana

इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा राज्य के भूमिहीन कृषि मजदूर के परिवारों को सालाना ₹6000 की धनराशि प्रदान की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य के उन सभी भूमिहीन मजदूर परिवारों को आर्थिक आर्थिक सहायता प्रदान की जाए जिनके पास आय का कोई अन्य साधन उपलब्ध नहीं होता है। Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana के तहत मिलने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से ट्रांसफर की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि राज्य के भूमिहीन मजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान कर उन्हें आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाए। ताकि उन्हें किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े। 

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana

1 सितंबर 2021 से आरंभ होगी आवेदन की प्रक्रिया


24 अगस्त 2021 को मंगलवार के दिन जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में योजना से संबंधित विस्तृत प्रशिक्षण एवं मार्गदर्शन के दौरान आवेदन की प्रक्रिया को 1 सितंबर 2021 से शुरू करने की घोषणा की गई। अधिकारी द्वारा बताया गया कि राजीव गांधी कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत पंजीयन एवं आवेदन लेने के कार्य जिले में 1 सितंबर से 30 नवंबर 2021 तक जारी किए जाएंगे। इस योजना का लाभ छत्तीसगढ़ के मूल निवासी श्रमिकों को प्रदान किया जाएगा। यदि आप भी इस योजना के तहत लाभ उठाना चाहते हैं तो आपको इस योजना के तहत 1 सितंबर से आवेदन करवाना होगा।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का उद्देश्य

जैसे कि हम सभी जानते हैं कि ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों को खेती का काम पूरे 12 माह तक ना होने के कारण उनके पास कोई आय का साधन नहीं होता है। और ऐसे में उन्हें कमजोर आर्थिक स्थिति का सामना करना पड़ता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्र के भूमिहीन कृषि मजदूरों को ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है के काम ना होने पर मजदूरों को किसी भी प्रकार की आर्थिक तंगी का सामना ना करना पड़े।

ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के मुख्य तथ्य

योजना का नामराजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना
किसके द्वारा शुरू की गईमुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी के द्वारा
राज्यछत्तीसगढ़
लाभार्थीग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर
उद्देश्यमजदूरों को आर्थिक सहायता प्रदान करना
आर्थिक सहायता₹6000 प्रति वर्ष
आवेदन की प्रक्रियाऑनलाइन/ ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाइटhttp://rggbkmny.cg.nic.in/ 

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2021

छत्तीसगढ़ राज्य मैं ग्रामीण क्षेत्र के कृषि मजदूरों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है। इस योजना के माध्यम से कृषि मजदूरों को अपना जीवन यापन करने हेतु ₹6000 की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। इस आर्थिक सहायता का उपयोग करके कृषि मजदूर अपने परिवार का भरण पोषण आसानी से कर सकते हैं। हम सभी जानते हैं कि रबी सत्र में फसल क्षेत्र में काम कम होने के कारण कृषि मजदूरों रोजगार के अवसर प्राप्त नहीं हो पाते हैं। इसी समस्या को देखते हुए राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरी आई योजना का शुभारंभ किया गया है।

  • इस योजना के माध्यम से भूमिहीन कृषि मजदूर परिवार की पहचान कर उन्हें वार्षिक आधार पर आर्थिक अनुदान प्रदान किया जाएगा।
  • इस आर्थिक अनुदान के माध्यम से मजदूर परिवारों की आय में वृद्धि होगी एवं वह अपना भरण-पोषण आसानी से कर सकेंगे।

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana का कार्यान्वयन

इस योजना के तहत कार्यान्वयन की जिम्मेदारी राज्य स्तर पर आयुक्त संचालक भू अभिलेखों पर होगी और जिला स्तर पर जिला कलेक्टर द्वारा ही इस योजना का कार्यान्वयन किया जाएगा। इस योजना के माध्यम से राज्य के भूमिहीन मजदूरों को अपना जीवन यापन करने हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी। आयोग संचालक और जिला कलेक्टर द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि राज्य का कोई भी व्यक्ति राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से वंचित ना रहे और सभी पात्र परिवारों को इस योजना के तहत लाभ प्रदान किया जाए। सरकार द्वारा इस योजना के तहत आर्थिक सहायता सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लाभार्थी

इस योजना का लाभ नीचे दिए गए नंबर लिखित कृषि मजदूर परिवारों को प्रदान किया जाएगा:-

  • चरवाहा
  • बढ़ाई
  • लोहार
  • मोची
  • नाई
  • धोबी
  • पुरोहित जैसे पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार आदि
राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना

ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के तहत सत्यापन प्रक्रिया

इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए राज्य के भूमिहीन मजदूरों को राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। सफलतापूर्वक पंजीकरण के बाद हितग्राही परिवारों का सत्यापन ग्राम पंचायत वार ग्राम वार सूची मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा किया जाएगा। सफलतापूर्वक सत्यापन के बाद संबंधित ग्राम पंचायत द्वारा उक्त सूची ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के पोर्टल पर अद्यतन की जाएगी। साथ ही साथ यह सुनिश्चित किया जाएगा कि अंतिम रूप से चिन्हा किस सूची में कृषि भूमि भारत करने वाले परिवार उपस्थित तो नहीं है। इस सूची को तैयार करने की पूरी जिम्मेदारी कलेक्टर को सौंपी जाएगी

  • सूची के अंतिम सत्यापन होने पर 4 महीने के भीतर ही तैयार की जाएगी
  • तथा अंतिम सूची में किसी प्रकार का संशोधन नहीं किया जाएगा।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी के द्वारा राज्य के ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों के लिए राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ किया गया है।
  • ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना के माध्यम से राज्य के ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूरों को यापन करने हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • ₹6000 की आर्थिक सहायता सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के माध्यम से हस्तांतरित की जाएगी।
  • इस योजना को आरंभ करने का मुख्य उद्देश्य है कि भूमिहीन कृषि मजदूरों की आय में वृद्धि की जाए।
  • ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का लाभ उन लोगों को प्रदान किया जाएगा जिनके पास अपने जमीन का एक छोटा सा टुकड़ा भी नहीं है और आय का कोई अन्य साधन उपलब्ध नहीं है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के भूमिहीन मजदूरों को आत्मनिर्भर व सशक्त बनाया जाएगा।
  • राज्य के मजदूर इस योजना के माध्यम से भरण पोषण आसानी से कर सकते हैं।
  • Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana के तहत कार्यान्वयन की जिम्मेदारी राज्य स्तर पर आयुक्त संचालक भू अभिलेखों पर होगी।
  • इस योजना का लाभ चरवाहा, बढ़ई, लोहार, मोची, नाई, पुरोहित जैसे पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार को जोड़ा जाएगा।
  • छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 1200000 भूमिहीन परिवारों को इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • इस योजना के सफलतापूर्वक कार्यान्वयन के लिए सरकार द्वारा 200 करोड़ रुपये के बजट का प्रावधान दिया गया है।
  • आर्थिक तंगी से जूझ रहे 12 लाख से अधिक भूमिहीन परिवारों को इस योजना के तहत समर्थन देकर न्याय दिया जाएगा।
  • राज्य के बस अभी भूमिहीन कृषि मजदूर जो इस योजना का लाभ उठाना चाहते हैं उन्हें 1 सितंबर से लेकर 30 नवंबर 2021 तक आवेदन करना होगा।
  • इस योजना के तहत आवेदन करने हेतु आपको राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन मजदूर न्याय योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana के तहत अपात्र लाभार्थी

  • नगरीय क्षेत्रों के रहवासी परिवार
  • डॉक्टर इंजीनियर चार्टर्ड अकाउंटेंट वकील आर्किटेक्ट
  • वह व्यक्ति जो सरकार के अधीन किसी केंद्रीय या राज्य सरवन इस क्षेत्र में काम करते हैं
  • लोकसभा और राज्यसभा के वर्तमान और पूर्व सदस्य
  • केंद्र और राज्य सरकारों के पूर्व और वर्तमान मंत्री
  • वह व्यक्ति जो केंद्र शासन राज्य शासन में किसी भी मंत्रालय विभागीय कार्यालय में कर्मचारी हैं
  • जनपद पंचायत का कोई पूर्व या वर्तमान अध्यक्ष

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना के तहत पात्रता

  • आवेदक छत्तीसगढ़ का स्थाई निवासी होना चाहिए।
  • उम्मीदवार के पास कृषि योग्य भूमि नहीं होनी चाहिए
  • इस योजना के तहत ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर परिवार के अंतर्गत चारवाहा बड़े लोहार मोती नाई धोबी पुरोहित जैसे पौनी पसारी व्यवस्था से जुड़े परिवार पात्र होंगे।
  • बस अभी परिवार जिसकी जीविका का मुख्य साधन केवल शारीरिक श्रम है और उसके परिवार का कोई भी सदस्य कृषि भूमि के धारण नहीं करता हो।
  • वह अभी परिवार जिनके पास अंश मात्र भी कृषि भूमि उपलब्ध नहीं है वह इस योजना के पात्र हैं।
  • इस योजना का लाभ कृषि मजदूर परिवार के मुखिया को तभी प्रदान किया जाएगा जब उन्होंने पोर्टल पर पंजीकरण करवाया हो।
  • परिवार के मुख्य की मृत्यु हो जाने पर नवीन आवेदन प्रस्तुत किया जाना अनिवार्य है।

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन की प्रक्रिया

राज्य के जो इच्छुक मजदूर इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते हैं उन्हें नीचे दिए गए चरणों का पालन करना है

  • सर्वप्रथम आपको राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको आवेदन करें के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन पत्र खुलकर आएगा।
  • आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारी आपको दर्ज करनी है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको सबमिट के बटन पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार आप आवेदन कर पाएंगे।

Rajiv Gandhi Gramin Bhoomihin Krishi Majdoor Nyay Yojana के तहत ऑफलाइन आवेदन की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको जिला उत्तर बस्तर कांकेर की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।
  • वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक पेज खुल कर आएगा।
  • इस पेज पर आपको राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना से संबंधित जानकारी प्राप्त होगी।
  • सभी जानकारी दिखाएं पूर्वक दर्ज करने के बाद आपको देखें के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने पीडीएफ फाइल खुल कर आएगी।
  • इस फाइल में आपको आवेदन पत्र प्राप्त होगा।
  • आपको इस पत्र का प्रिंट आउट निकाल लेना है
  • प्रिंटआउट प्राप्त करने के बाद आपको इस पत्र में पूछी गई सभी जानकारी ध्यानपूर्वक दर्ज करनी है।
  • सभी जानकारी दर्ज करने के बाद आपको यह फॉर्म संबंधित कार्यालय में जमा कर देना है।
  • आपके फॉर्म के सफलतापूर्वक जांच के बाद आपको इस योजना का लाभ प्रदान किया जाएगा।

Leave a Comment