उदय योजना 2023: ऑनलाइन आवेदन, लाभ व कार्यान्वयन प्रक्रिया

UDAY Yojana ऑनलाइन आवेदन कैसे करे व उदय योजना रजिस्ट्रेशन फॉर्म और एप्लीकेशन स्टेटस एवं लाभ व कार्यान्वयन प्रक्रिया देखे | आज भी हमारे देश में कहीं ना कहीं बिजली कटौती की समस्या सरकार के सामने बनी हुई है। जिसका मुख्य कारण बिजली वितरण कंपनियों की खराब वित्तीय स्थिति एवं परिचालन क्षमता है। इसलिए अब केंद्र सरकार द्वारा बिजली क्षेत्र में सुधार लाने के लिए एक महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया है। यह निर्णय उदय योजना को शुरू करने का है। इस योजना के माध्यम से विद्युत वितरण कंपनियों की सभी प्रकार की समस्याओं का स्थाई समाधान सुनिश्चित किया जाएगा। अगर आप UDAY Yojana को विस्तार पूर्वक समझना चाहते हैं तो हमारे इस लेख को नीचे तक अवश्य पढ़ें। क्योंकि हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से Ujwal DISCOM Assurance Scheme 2023 से संबंधित संपूर्ण ब्यौरा प्रदान करने जा रहे हैं।

UDAY Yojana 2023

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा उज्जवल डिस्कॉम इंश्योरेंस योजना या उदय योजना को शुरू किया गया है। इस योजना के माध्यम से बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय एवं परिचालन क्षमता में सुधार लाकर लगातार 24 घंटे बिजली की सुविधा मुहैया करवाई जाएगी। क्योंकि 2011-12 में देश की बिजली वितरण कंपनियों का बकाया कर्ज लगभग 2.4 लाख करोड़ रुपए से बढ़कर 2014-15 मे 4.38 लाख करोड़ रुपए हो गया था। जिसके कारण बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय स्थिति एवं परिचालन क्षमता लगातार खराब होती जा रही थी। सरकार द्वारा उदय योजना 2023 के तहत वितरण कंपनियों को कर्ज़ के दबाव से मुक्त किया जाएगा। ताकि उन्हें पुनरुद्धार किया जा सके।

 अगर हम कहे तो, UDAY Yojana को केंद्र सरकार द्वारा बिजली वितरण कंपनियों के सुदृढ़ीकरण के लिए नियोजित किया गया है। इस योजना की अधिकारी वेबसाइट पर सुधार बैरोमीटर एवं सुधार की प्रवृत्ति, UDAY के तहत बिजली वितरण कंपनियों के स्टेटस के प्रदर्शन का उद्देश्य विशेषण करती हैं‌ और अभी हाल हीं में सरकार द्वारा UDAY Yojana 2023 का मोबाइल ऐप भी लॉन्च किया गया है।

UDAY Yojana

बिजली वितरण कंपनियों की दशा में सुधार लाने के लिए UDAY योजना के तहत चार पहले अपनाई जाएगी

  • बिजली वितरण कंपनियों की परिचालन क्षमता में सुधार लाना।
  • बिजली की लागत में कमी करना।
  • वितरण कंपनियों की ब्याज लागत में कमी।
  • राज्य वित्त के साथ संरेखण के माध्यम से वित्तीय कंपनियों पर वित्तीय अनुशासन लागू करना।

सौभाग्य योजना 

Key Highlights Of UDAY Yojana 2023

योजना का नामउदय योजना (उज्जवल डिस्कॉम इंश्योरेंस योजना)
शुरू की गईकेंद्र सरकार द्वारा
लागू वर्ष2015
संबंधित विभागबिजली मंत्रालय
लाभार्थीदेश के सभी नागरिक
उद्देश्यबिजली वितरण कंपनियों के कर्जे के बोझ को कम करना।
साल2023
अधिकारिक वेबसाइटwww.uday.gov.in

उदय योजना 2023 का उद्देश्य

इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य विद्युत वितरण कंपनियों के कर्जे के बोझ को कम करना है। ताकि वितरण कंपनियों की वित्तीय एवं परिचालन क्षमता में सुधार लाकर नागरिकों को 24 घंटे बिजली की सुविधा मुहैया करवाई जा सके।  इस योजना के माध्यम से राज्य सरकारों द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों को बिजली से जोड़ने वाली योजनाओं को तेजी से लागू किया जा सकेंगा। उदय योजना 2023 के माध्यम से बिजली उत्पादन की लागत में  कमी भी लाई जाएगी और साथ ही नवीकरणीय ऊर्जा का विकास किया जाएगा। केंद्र सरकार द्वारा संचालित यह योजना बिजली क्षेत्र को ओर अधिक मजबूत और विकसित करेगी। जिसके परिणाम स्वरूप बिजली कटौती की समस्या को दूर होगी।

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना

उदय योजना के अंतर्गत कार्यान्वयन प्रक्रिया

  • राज्यों का बिजली वितरण कंपनियों पर बकाया 45 लाख करोड़ रुपए का 90 फीसदी बकाया है।
  • UDAY Yojana लागू होने के बाद बिजली वितरण कंपनियों को नए सिरे से ऋण प्रदान किया जाएगा। ताकि वह अपनी ट्रांसमिशन वा वितरण की हानि को दूर करने के लिए नई योजनाओं का निर्माण कर सकें।
  • बिजली वितरण कंपनियां बेहतर स्थिति में होने के बाद ज्यादा बिजली खरीद व उत्पन्न कर सकेंगी। जिससे देश में बिजली कटौती की समस्या नहीं होगी।
  • साथ ही अनिश्चितता में फंसी बिजली कंपनियों पर काम आगे बढ़ाया जा सकेगा।
  • इस प्रकार से Ujwal DISCOM Assurance Yojana के तहत देश के नागरिकों के लिए अधिक बिजली कम दरों पर उपलब्ध हो सकेंगी।

उदय योजना के तहत शामिल होने वाले राज्यों की अपडेट

झारखंड इस योजना के तहत शामिल होने वाला पहला राज्य है। इस योजना के तहत अब तक देश के 15 राज्य शामिल हो चुके हैं। जिनमें उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तराखंड, गुजरात, जम्मू कश्मीर, झारखंड, हरियाणा, छत्तीसगढ़ आदि शामिल है। यदि यह सभी 15 राज्य इस योजना को लागू कर देते हैं तो बिजली वितरण कंपनियों पर बकाया 4.50 लाख करोड़ रुपए के कर्ज का भुगतान हो जाएगा। अब इसके माध्यम से राज्य सरकारें ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली से जोड़ने की योजनाओं पर तेजी से कार्य कर सकेंगी।

सन् 2019-20 तक राज्य के उन गांव तक बिजली की पहुंच सुनिश्चित की जाएगी जहां अभी तक बिजली की सुविधा उपलब्ध नहीं है। साथ ही उन गांवों को सौर ऊर्जा से जोड़ा जाएगा जहां ग्रिड से बिजली नहीं पहुंच सकती है। उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान एवं झारखंड जैसे राज्यों ने अपने यहां उदय योजना को लागू करने पर सहमति दे दी है। इसके अलावा 2 महीने के अंदर 15 राज्य उदय योजना को लागू करने के लिए समझौता कर लेंगे।

UDAY Yojana के अंतर्गत शामिल राज्यों को प्राप्त होने वाला लाभ

  • केंद्र सरकार की सहायता से बिजली की लागत में कमी।
  • घरेलू कोयले की आपूर्ति में वृद्धि।
  • कोयला मूल्य युक्तिकरण
  • धुले एवं कुचले हुए कोयले की आपूर्ति।
  • कोयला लिंकेज युक्तिकरण एवं कोयला स्वैप की अनुमति
  • अधिसूचित कीमतों पर कोयला लिंकेज का वितरण
  • पारदर्शी प्रतिस्पर्धी बोली के द्वारा बिजली खरीद
  • अंतरराष्ट्रीय ट्रांसमिशन लाइनों के कार्यों का तेजी से समापन

उदय योजना से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण बिंदु

  • उत्तर प्रदेश, तमिलनाडु, हरियाणा एवं राजस्थान की बिजली वितरण कंपनियों ने जब से उदय योजना को अपनाया है उनकी वित्तीय स्थिति एवं परिचालन क्षमता में बहुत अधिक सुधार देखने को मिला है।
  • वित्तीय वर्ष 2016-17 में हरियाणा में कुल वाणिज्यिक एवं तकनीकी घाटा वित्तीय वर्ष  2015-16 के 29.8% से घटकर  25.9% हो गया है।
  • इसके अलावा तमिलनाडु में भी वित्तीय वर्ष 2015-16 में जो घाटा 20.39% था वह घटकर वित्तीय वर्ष 2016-17 में 14.53 प्रतिशत हो गया है।
  • उत्तर प्रदेश में घाटा 33.84% से घटकर 30.21% एवं राजस्थान में घाटा पिछले वर्ष के 27.3% से घटकर 23.6% तक पहुंच गया है।
  • हरियाणा में 2016-17 में बिजली की खरीद लागत में गिरावट आई है। जो पिछले वर्ष के प्रति यूनिट 5.05 रुपए से घटकर 5.01 रुपए पर पहुंच गई है।
  • उदय योजना के तहत शामिल 26 राज्य एवं एक केंद्र शासित प्रदेश का बकाया ‌ कर्ज़ 3.82 लाख करोड़ रुपए था।
  • इस योजना के तहत राज्यों के लगभग 86% ऋण के बॉन्ड जारी कर दिए गए हैं जो 2.32 लाख करोड़ रुपए के हैं।

UDAY Yojana की कुछ मुख्य विशेषताएं

  • केंद्र सरकार द्वारा देश में उदय योजना 2023 को सभी राज्यों के लिए वैकल्पिक रखा गया है।
  • 30 सितंबर सन् 2015 की स्थिति के अनुसार राज्य सरकारों द्वारा 2 वर्षों के भीतर वितरण कंपनियों का 75% कर्जा अधिग्रहित कर लिया जाएगा।
  • सन् 2015-16 मे 50% एवं सन् 2016-17 में 25% कर्जा अधिग्रहण किया जाएगा।
  • उदय योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा वित्तीय वर्ष 2015-16 एवं 2016-17 में संबंधित राज्यों की राजकोषीय घाटे की गणना में अधिग्रहण ऋण शामिल नहीं किया जाएगा।
  • उचित सीमा तक बिजली वितरण कंपनियों को ऋण प्रदान करने वाले बैंकों/वित्तीय संस्थाओं हेतु बाड़ों समेत गैर-एसएलआर जारी किए जाएंगे।
  • यानी जिन वितरण कंपनियों के ऋणों का अधिग्रहण राज्य सरकार द्वारा नहीं किया जाएगा उन्हें वित्तीय संस्था/बैंक द्वारा ऋण या बांड में परिवर्तित कर दिया जाएगा।
  • इन ऋण या बांड पर बैंक/वित्तीय संस्थाओं द्वारा अपने आधार दर के साथ 0.1% (BASE RATE PLUS 01%) से अधिक ब्याज दर नहीं वसूला जाएगा।
  • बिजली वितरण कंपनियों को भविष्य में होने वाले नुकसान को राज्य सरकारों द्वारा श्रेणीबद्ध ढंग से अधिग्रहण किया जाएगा।
  • साल 2017-18 में 2016-17 की हानि का 5%, 2018-19 में 2017-18 की हानि का 10% एवं 2019-20 में 2018-19 की हानि का 25% अधिग्रहण किया जाएगा।
  • 1 अप्रैल सन् 2012 के बाद से बकाया ‘नवीकरणीय खरीद बाध्य’ (RPO) का राज्य वितरण कंपनियां अनुपालन करेंगी।
  • जिन राज्यों ने उदय योजना को स्वीकार किया है और साथ ही परिचालन लक्ष्यों के अनुरूप बेहतर प्रदर्शन किया है उन्हें विविध योजनाओं के माध्यम से अतिरिक्त प्राथमिकता वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।
  • साथ ही इन राज्यों को अधिसूचित कीमतों पर कोयला आपूर्ति एवं उच्च क्षमता उपयोग के माध्यम से उपलब्धता के संबंध में एनटीपीसी तथा अन्य केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्रों के उपक्रम से कम लागत की बिजली द्वारा सहयोग प्रदान किया जाएगा।

उदय योजना के लाभ

  • UDAY Yojana 2022 के माध्यम से बिजली वितरण कंपनियों की वित्तीय एवं परिचालन क्षमता में सुधार आएगा। जिससे नागरिकों को 24 घंटे बिजली की सुविधा का लाभ प्राप्त होगा।
  • इस योजना के माध्यम से वितरण कंपनियों को कर्ज़ के दबाव से मुक्ति मिलेगी।
  • देश के जिन गांव तक बिजली की पहुंच सुनिश्चित नहीं है उन गांवों तक इस योजना के माध्यम से बिजली की पहुंच सुनिश्चित की जाएगी।
  • इसके अलावा रोजगार के अवसर उत्पन्न करने के लिए बिजली क्षेत्र में निवेश को पुनर्जीवित किया जाएगा।
  • Ujwal DISCOM Assurance Yojana के माध्यम से उदय दक्षता में सुधार लाकर वार्षिक 1.8 करोड़ रुपए की बचत की जा सकेगी।
  • इस योजना के माध्यम से सभी विद्युत वितरण कंपनियों को लाभदायक स्थिति में लाया जा जाएगा
  • नागरिकों को इस योजना के माध्यम से अधिक बिजली कम दरों पर प्राप्त होगीं।

उदय योजना 2023 के तहत ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया

UDAY Yojana
  • इसके बाद आपके सामने वेबसाइट का होमपेज खुलकर आ जाएगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको आवेदन करे के विकल्प पर क्लिक देना है।
  • अब आपके सामने आवेदन फॉर्म खुलकर आ जाएगा।
  • इसके बाद आपको फॉर्म में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारियों को दर्ज कर देना है।
  • अब आपको सभी आवश्यक दस्तावेजों को अपलोड कर देना है।
  • इसके बाद आपको सबमिट के विकल्प पर क्लिक करना है।
  • इस प्रकार से आप उदय योजना 2023 के तहत आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Comment